22 मार्च के ‘जनता कर्फ्यू’ का विरोध करेगी RJD, विधायक ने बताया अघोषित आपातकाल

Patna: गुरुवार को भारत की जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देशवासियों को 22 मार्च की सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक घर पर रहने के अपील की है. इसे पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू नाम दिया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी भारत के पीेएम की इस अपील की सराहना की है, लेकिन राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को इसमें साजिश नजर आ रही है और इसका विरोध करने का ऐलान किया है.

जनता कर्फ्यू का विरोध करेगा राजद

राजद विधायक भोला यादव ने दरभंगा में प्रेस कांफ्रेंस कर जनता कर्फ्यू को अघोषित आपातकाल बताते हुए कहा कि कोरोना वायरस को रोकने में सरकार फेल है. इस महामारी से बचाव और इससे उबरने की कोई तैयारी नहीं है. इसलिए बाकी सवालो से बचने के लिए और ध्यान को भटकाने के लिए यह काम कर रही है. 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का राजद पुरजोर विरोध करता है.

22 मार्च के 'जनता कर्फ्यू' का विरोध करेगी RJD, विधायक ने बताया अघोषित आपातकाल

महामारी है लेकिन अस्पताल तैयार नहीं

हलाकि उन्होंने कहा कि कोरोना एक बड़ी बिमारी और महामारी है, लेकिन कहीं भी कोई अस्पताल तैयार नहींं है. सेनेटाइजर भी किसी जगह उपलब्ध नहीं हैं. गांवों के स्वास्थ्य केंद्रों का तो और बुरा हाल है. उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि सिर्फ सरकार प्रचार-प्रसार कर लोगों को डरा रही है, लेकिन कोरोना से बचने के कोइ उपाई नहीं कर रही है.

राजद विधायक ने दरभंगा के जिलाधिकारी से मांग करते हुए कहा कि वे सरकार को जल्द एक त्राहिमाम संदेश भेजे ताकि इस महामारी के रोकने के सभी उपाय दरभंगा में सुनिश्चित की जाए.

प्रधानमंत्री को दी नसीहत

विधायक ने प्रधानमंत्री को नसीहत देते हुए कहा कि जनता कर्फ्यू से पहले लोगों के घरों तक अनाज मुहैया कराए सरकार. सवालिया लहजे में कहा रोज़ मजदूरी कर खाने वाला परिवार आखिर खायेगा क्या, यह सरकार बताये. सरकार खाने पीने के सामन जनता को मुहैया करा दे फिर जनता कर्फ्यू लगा दे तब राजद समर्थन करेगी वर्ना इसका विरोध राजद करती रहेगी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *