CM नीतीश को खुला पत्र- सात साल से बिहार में हूं, आपकी सरकार से तंग होकर वापस दिल्ली जा रहा हूं

माननीय मुख्य मंत्री जी…मुझे नहीं मालूम आपको यह पत्र पहुंचेगा की नहीं पर उन तक पहुंच जाएगा जो मेरी तरह वापस गांव आना चाह रहे हैं। सात साल से चल रही तयारी के बाद कल रात मैंने वापस जाने का मन बना लिया है। वैसे तो कई वजह हैं जैसे घटिया स्वास्थ्य व्यवस्था, भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था पर जिस वजह ने मुझे तोड़ के रख दिया वह बिजली की समस्या है।

मेरे घर के सामने एक किलोमीटर पर पॉवर ग्रिड है जिसमे चौबीस घण्टे बिजली जलती दिखती है पर वहां से एक किलोमीटर दूर मेरे घर मे अंधेरा रहता है। बिजली का अब रोशनी मात्र से सम्बन्ध नही है मोटर न चले तो वाशरूम में पानी नहीं आएगा। तब मोदी जी से माफी मांग लोटा ले के खेत मे बैठना पड़ेगा। साग सब्ज़ी, दवा सब फ्रिज में है जिनको खराब होते वक़्त नही लगता। आपकी व्यवस्था में 80 से 300 वाल्ट कभी भी आ जाता है। पिछले एक साल में 6 लाख रुपये के उपकरण धू धू करके जल गए। हमारा सामुदायिक रेडियो दो बार महीनों के लिए बन्द हुआ। हल्की बारिश या हवा के साथ ही बिजली काट दी जाती हैं और जो गयी सो गई। ट्रांसफार्मर फटने, तार गिरने की घटनाएं आम हैं। रिश्वत देकर भी काम नही होता। तंग आ गया हूँ, कोई सुनवाई नही…चल फकीरा घर अपनो

Raj Jha(Facebook)

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.