ऑक्सीजन मांगने पर मिली जेल, तीन बेटे कोरोना से मरे, अब बूढ़े मां-बाप भी पॉजिटिव

ऑक्सीजन के लिए हंगामा किया तो मिली जेल:तीन बेटे कोरोना से मरे, अब बूढ़े मां-बाप भी पॉजिटिव; मायागंज अस्पताल में साथ आए पोते जेल में…बांका के जिस माता-पिता ने अपने सामने अपने तीन पुत्रों को कोरोना की वजह से खो दिया, वे भी अब कोरोना के शिकार होकर जिंदगी और मौत से लड़ाई लड़ने लगे हैं। दंपत्ति का ऑक्सीजन लेवल कम होने के बाद मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अमरपुर के बल्लिकित्ता निवासी शशिधर कापरी व उनकी पत्नी की सोमवार को अचानक हालात बिगड़ने लगी और सांस लेने में दिक्कत होनी शुरू हुई। जिसके बाद दोनों को अमरपुर अस्पताल लाया गया, जहां से उन्हें मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया गया। परिजन उन्हें लेकर पहुंचे लेकिन काफी टाइम तक ऑक्सीजन नहीं मिला। इस वजह से उनके साथ गये दो पौत्र ने अस्पताल में रो-रो कर ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की मांग की। जब कोई सुनवाई नहीं हुई तब जाकर दोनों पौत्रों ने हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद अस्पताल प्रबंधन द्वारा बरारी थाना की पुलिस बुलाकर दोनों को गिरफ्तार करा दिया गया है।

शशिधर कापरी के मंझले बेटे निकुंज कापरी की दिल्ली में कोरोना की वजह से मोत हो गयी थी। उन्हें आग देने के लिए बड़े पुत्र प्रमोद कापरी गये थे। वापस आने पर पॉजिटिव पाए गए और मायागंज में रविवार को मौत हो गयी थी। इससे पूर्व उनके सबसे छोटे पुत्र प्रभाष कापरी कुछ ही दिनों पूर्व देवघर से लौटे थे और पॉजिटिव हो गये थे। उनकी मौत बल्लिकित्ता में ही हो गयी थी। अब माता-पिता मायागंज में जिंदगी और मौत से लड़ाई लड़ रहे हैं।

अस्पताल में हो-हंगामा करने पर दो पौत्र हो गये गिरफ्तार

इलाजरत शशिधर कापरी के पौत्र अक्षय कुमार व छोटू कुमार द्वारा हंगामा किए जाने के बाद बरारी पुलिस ने मायागंज अस्पताल प्रबंधन की शिकायत पर दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। अब मरीज अस्पताल में इलाजरत है, जबकि इलाज कराने पहुंचे परिजन हवालात में हैं। बरारी थानाध्यक्ष नवनीश कुमार ने बताया कि अस्पताल प्रबंधक के द्वारा हंगामा किये जाने के आरोप में दो युवकों पर प्राथमिकी दर्ज करायी है। जिसके बाद दोनों युवक को जेल भेज दिया गया है।

जांच में परिवार के सभी लोग पाए गए थे निगेटिव

मायागंज अस्पताल में कोरोना की वजह से जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे कोरोना संक्रमित शशिधर कापरी व उनकी पत्नी के साथ-साथ पूरे परिवार की रविवार को कोरोना जांच हुई थी, जहां सभी लोग निगेटिव मिले थे। तीन पुत्रों की कोरोना से मौत की जानकारी होने के बाद अस्पताल प्रबंधक सुनील चौधरी व लैब टेक्निशियन गांव पहुंचकर पूरे परिवार के साथ-साथ 40 लोगों का एंटीजन जांच किया था, जिसमें सभी लोग निगेटिव पाए गए थे। अस्पताल प्रबंधक ने बताया कि एंटीजन सभी निगेटिव मिले थे, जबकि आरटीपीसीआर जांच अभी किसी नहीं आई है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *