टोक्यो ओलंपिक में मेडल से दो जीत दूर पीवी सिंधु, क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह

भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक में अच्छी शुरुआत की है। सिंधु ने डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट को सीधे गेम में 21-15, 21-13 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। पीवी सिंधु ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीता था। वे ऐसा करने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनी थीं। वे दो मुकाबले और जीत लेती हैं तो उनका मेडल पक्का हो जाएगा।

पीवी सिंधु ने मुकाबले में मिया ब्लिचफेल्ट के खिलाफ अच्छी शुरुआत की। पहले गेम में वे एक समय 11-6 से आगे थीं। इसके बाद स्कोर 13-10 हो गया। फिर 16-12 के बाद स्कोर डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट ने वापसी की और स्कोर 16-15 हो गया।


हालांकि इसके बाद सिंधु ने वापसी की और पहला गेम 21-15 से जीत लिया। यह गेम 22 मिनट तक चला। इस गेम की औसत रैली 14 शॉट की रही। सिंधु को ओलंपिक में छठी वरीयता मिली हुई है।
दूसरे गेम में भी पीवी सिंधु ने अच्छी शुरुआत की और 5-0 की बढ़त बना ली। इसके बाद मिया ब्लिचफेल्ट ने कुछ अच्छे शॉट लगाए और स्कोर 3-6 हो गया। हाफ टाइम तक पीवी सिंधु 11-6 की बढ़त बनाने में कामयाब रहीं। अंत में उन्होंने यह मुकाबला 21-13 से जीतकर अंतिम-8 में जगह बनाई। यह मुकाबला 19 मिनट तक चला। इस गेम की औसत रैली 10 शॉट की रही।
पीवी सिंधु की यह लगातार तीसरी जीत है। सिंधु की भिड़ंत क्वार्टर फाइनल में जापान की अकाने यामागुची से हो सकती है। पिछले दो ओलंपिक की बात की जाए तो बैडमिंटन में भारत को मेडल मिले हैं। 2012 में साइना नेहवाल ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था। वे बैडमिंटन के इतिहास में ओलंपिक में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनी थीं। टोक्यो ओलंपिक की बात की जाए तो भारत को अब तक सिर्फ एक मेडल मिला है। महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल जीता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.