पप्पू यादव होंगे बिहार के अगले CM, पटना विधान सभ सीट से उतरेंगे चुनावी मैदान में?

क्या पप्पू यादव बिहार के अगले मुख्यमंत्री होंगे? क्या पप्पू यादव लोक सभा में हारने के बाद बिहार विधान सभा के चुनावी समर में ताल ठोकने उतरेंगे? इन सभी प्रश्नों का जवाब अगले साल तक मिल जाएगा।फिलहाल पटना से संचालित डिजिटल मीडिया लाइव सिटी के सम्पादक और वरिष्ठ पत्रकार ज्ञानसेवार वात्सायन ने दवा किया है की पप्पू यादव बिहार विधान सभा चुनाव में ना सिर्फ अपनी पार्टी का नेतृत्व करेंगे बल्कि मुख्यमंत्री उम्मीदवार बन लोगों के सामने एक नया विकल्प देने का प्रयास करेंगे। इनका दावा है की पप्पू यादव ने रणनीति के तहत काम करना आरम्भ कर दिया है। यही कारण है की लोक सभा चुनाव में जमानत जप्त होने के बाद भी उन्होनें हार नहीं मानी और कुछ ही महीनों में पटना यूनिवर्सिटी छात्र संगठन चुनाव में जीत दर्ज कर अध्यक्ष पद पर कब्ज़ा जमा लिया।

बताते चलें की पटना विवि छात्र संघ चुनाव से जुड़ी सबसे बड़ी ख़बर ये है कि छात्र संघ चुनाव का फैसला आ गया है। फैसला जाप प्रमुख पप्पू यादव के पक्ष में आया है। उनकी पार्टी के छात्र इकाई ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए यूनिवर्सिटी में दो पदों पर छात्र जाप को जीत दिलाई है। छात्र जाप को पीयू के अध्यक्ष और ज्वाइंट सेक्रेटरी के पद पर विजय हासिल हुई है।

इसके साथ ही उपाध्यक्ष पद पर छात्र राजद के निशांत यादव ने बाजी मारी है। जेनरल सेक्रेटरी के पद पर एबीवीपी की प्रियंका श्रीवास्तव ने बाजी मारी और कोषाध्यक्ष के पद पर आईसा की कोमल कुमारी ने जीत दर्ज की है।

पांचवें और अंतिम चरण की गिनती बाद छात्र जाप के मनीष यादव ने जीत दर्ज कर ली। हालांकि वो लगातार तीसरे राउंड से ही बढ़त बनाए हुए थे। अपने कैंडिडेट की जीत के बाद जाप प्रमुख पप्पू यादव भी काफी खुश दिखे। वहीं छात्र राजद के निशांत यादव ने उपाध्यक्ष पद पर जीत के बाद कहा कि सभी मिलकर रहेंगे। सबका मुख्य मुद्दा विकास ही हैं। छात्र राजद के प्रेसिडेंट पद के प्रत्याशी आयुष को कुल 2375 वोट मिले जबकि जीत दर्ज करने वाले जाप के मनीष को कुल 2815 वोट मिले हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *