दीवली-छठ : पटना से दिल्ली आने-जाने वाली बसों में एडवांस टिकट बुकिंग शुरू, ट्रेन 10% फ्लाइट 5 गुना महंगी

दीपावली-छठ काे लेकर पटना से दिल्ली आने-जाने वाली बसों में एडवांस टिकट बुकिंग शुरू, 10% ट्रेन फ्लाइट 5 गुना तक महंगी

दीपावली एवं छठ काे लेकर पटना से दिल्ली आने-जाने वाले लोग बसों में एडवांस टिकट बुकिंग करा रहे हैं। कोरोना वायरस के कारण सरकार की गाइडलाइन के अनुसार बसाें में जितनी सीट उतने यात्रियों को बैठाना है। इस कारण पटना से विभिन्न जिलों में आने-जाने वाली बसों में सीट भर जा रही है। ऐसे में इस दीपावली में सीट के लिए बसों में मारामारी हो सकती है। मीठापुर बस स्टैंड से बसों का परिचालन करने वाले मैनेजर चुन्नू कुमार ने बताया कि सीट के अनुसार टिकट कट रहा है। इसलिए बस की सीट तुरंत फुल जाती है। इसकी वजह से लोग एडवांस में टिकट ले रहे हैं। www.redbus.com पर आनॅलाइन टिकट बुकिंग हाे रही है। रेडबस वेबसाइट के माध्यम से लोग एडवांस में टिकट कटा रहे हैं। पर्याप्त संख्या में लोकल ट्रेनों का परिचालन नहीं होने से त्योहारों पर बसाें में भीड़ अधिक होने की संभावना जताई जा रही है।

त्योहारों पर सिर्फ 10% ट्रेन फ्लाइट 5 गुना तक महंगी

कोरोना काल में इस बार त्योहारों के बावजूद मात्र 10 फीसदी ट्रेन चल रही हैं। रेलवे बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक सामान्य दिनों में लोकल, पैसेंजर, मेल, एक्सप्रेस, राजधानी, शताब्दी और दूरंतो मिलाकर करीब 13 हजार गाड़ियों का संचालन होता था, इस बार अभी केवल 1308 ट्रेनें चल रही हैं। रेलवे बोर्ड के एडीजी जेडी नारायन ने भास्कर को बताया कि दिवाली और छठ के लिए सोमवार को अतिरिक्त ट्रेनों की घोषणा की जा सकती है।

दूसरी तरफ हवाई किराया सामान्य के मुकाबले पांच गुना तक अधिक पहुंच गया है। हालांकि सरकार ने किराए पर कैपिंग लगा रखा रखी है, जिससे दूरी के अनुसार 7 श्रेणियों में किराया तय किया गया है। एयर लाइंस को 40% सीटें औसत किराए से कम पर बुक करनी होती हैं। बाकी 60% सीटों का किराया तय अधिकतम सीमा तक बढ़ गया है। दिल्ली से पटना का किराया करीब चार गुना अधिक हुआ है। मेकमाय ट्रिप के सीओओ विपुल प्रकाश कहते हैं कि ‘दिवाली के कारण 6 से 16 नवंबर के बीच ट्रेनों और फ्लाइट पर बुकिंग 20% बढ़ी है। दिल्ली, पटना और कोलकाता के लिए अभी सर्वाधिक बुकिंग हो रही है।

कोरोना ने बदला ट्रेंड : दिवाली के वक्त भी तेजस में सीटें खाली, यात्रियों के लिए फ्लाइट पहली पसंद {दिवाली पर ट्रेनों में रोज 2.8 करोड़ लोग सफर करते थे, इस बार सिर्फ 19 लाख. त्योहार में सबसे व्यस्त फ्लाइट्स आैर ट्रेनों की स्थिति

अौसतन प्रति ट्रेन 15 सौ यात्रियों के हिसाब से रोजाना 19 लाख लोगों के ट्रेन से सफर करने की उम्मीद है।{सामान्य स्थितियों में दिवाली के तीन-चार दिन पहले तक रोजाना 2.80 करोड़ यात्री ट्रेनों में होते थे। यात्री फ्लाइट से सामान्य दिनों में और दिवाली के आसपास 3.50 लाख यात्री तक आंकड़ा पहुंचता था बीते सालों में।
2 लाख. यात्री के आसपास रहेगा इस बार काेरोना के कारण यह आंकड़ा। पिछली बार तेजस का किराया फ्लाइट से डेढ़ गुना ज्यादा था {लोग ट्रेन के बजाय फ्लाइट से सफर करना पसंद कर रहे हैं। यही वजह है कि दिवाली के आसपास तेजस (दिल्ली से लखनऊ) में सीटें है और डाइनमिक किराया केवल 315 रुपए है, जबकि हवाई किराया तेजस से करीब पांच गुना तक अधिक है। पिछली दिवाली तेजस का किराया फ्लाइट से डेढ़ गुना अधिक था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *