पटना-दिल्ली के बीच रेल सफर हुआ आसान, झाझा से DDU जंक्शन 3.50 घंटे में पहुंची स्पीड ट्रायल ट्रेन

दानापुर रेलमंडल के झाझा से पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन के बीच अप लाइन पर साेमवार काे 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से अलग-अलग तरह की 24 बोगियों वाली ट्रेन दौड़ाई गई। इस दौरान आरडीएसओ लखनऊ की विशेषज्ञ टीम कन्फर्मेट्री ओसिलोग्राफी कार में मौजूद रही। इसके पहले रविवार को भी डाउन लाइन पर ट्रेन की स्पीड बढ़ाकर सफल परीक्षण किया गया था।

साेमवार काे झाझा से पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन की 387 किमी की दूरी यह स्पेशल स्पीड ट्रायल ट्रेन ने महज 3 घंटे 50 मिनट में तय की। विशेषज्ञ टीम के मुताबिक अब इस रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन 130 किलोमीटर प्रति घंटे से किया जा सकेगा। अधिकारियों का कहना है, ट्रैक को और अपडेट कर सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत, तेजस का भी परिचालन संभव हो सकेगा।

ट्रायल रन में अलग-अलग तरह के रहते हैं 24 कोच : ट्रायल रन में अलग-अलग तरह के 24 काेच एसी-वन, एसी-टू, एसी-थ्री, स्लीपर और जनरल काेच लगाए जाते हैं। प्रत्येक काेच की प्रत्येक सीट पर एक आदमी के औसतन वजन के बराबर 65-70 किलो की बालू से भरी बोरियां रखी जाती हैं। इस गाड़ी द्वारा पटरी एवं पहिए के मध्य का घर्षण, अधिकतम गति के समय डिब्बों की स्थिरता, घुमावदार स्थानों पर िडब्बों का झुकाव अादि जैसे बिंदुओं का आंकलन किया जाता है।

पुनारख के पास तकनीकी कारणों से 3 मिनट रोकी गई : पूर्व मध्य रेल के सीपीअारअाे राजेश कुमार ने बताया, ट्रायल ट्रेन झाझा से सुबह 9.30 बजे निकली। इसके बाद मोकामा 10.26, बख्तियारपुर 10.52, पटना 11.23, आरा 11.55, बक्सर 12.32 थ्रू पास करते हुए 1.23 बजे पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन पहुंची। इस ट्रेन को परिचालन के दौरान पुनारख स्टेशन के पास तकनीकी कारणों से तीन मिनट (10:32 से 10:35 तक) रोकना पड़ा। इस दाैरान इस ट्रेन की पूरी दूरी की औसतन गति 110 किमी प्रति घंटे अाैर स्टेशनों के मध्य रेलखंडों पर अधिकतम गति 130 किमी प्रति घंटे रही।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *