पटना में होटल मालिकों की लापरवाही, बिना सेनेटाइजर,सोशल डिस्टेंस के चल रहे होटल, पुलिस का छापा

मीठापुर बस स्टैंड के सामने ज्यादातर होटलों में सेनेटाइजर रखे हुए नहीं मिले। थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था भी कुछ ही होटलों में थी। सोमवार शाम इन होटलों में पुलिस ने छापा मारा तो यह सच्चाई सामने आई।

पुलिस ने सोमवार की शाम ताबड़तोड़ छापेमारी की। एडिशनल एसपी सदर किरन कुमार गोरख जाधव के नेतृत्व में करीब एक दर्जन होटलों में पुलिस ने छापा मारा। छापेमारी के दौरान एक भी होटल में पुलिस को सेनेटाइजर नहीं मिला। थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था भी कुछ ही होटलों में मिली। इन होटलों में कोरोना संक्रमण से रोकथाम को लेकर अलग से कोई व्यवस्था नहीं थी। सूत्रों की मानें तो पुलिस इन होटल संचालकों पर कड़ी कानूनी कार्रवाई करने के मूड में है। दरअसल कई जगहों से आने वाले लोग इन्हीं होटलों में रुकते हैं।

इसके बावजूद यहां किसी तरह की सावधानी नहीं बरती जा रही जो बस स्टैंड के सामने स्थित होटलों के संचालकों पर सवाल खड़े कर रही है। इस दौरान इस दौरान आधा दर्जन संदिग्ग्धों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इनमें एक महिला भी शामिल है। होटल के कमरे से पुलिस को कई आपत्तिजनक सामान भी मिले हैं। वहीं सभी संदिग्ग्धों को जक्कनपुर थाने में रखा गया है। थानेदार मुकेश वर्मा व अन्य पुलिसकर्मी इन होटलों में रुकने वालों का सत्यापन कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक ऊपर से मिले आदेश के बाद शाम के वक्त एकाएक पुलिस सक्रिय हुई और छापेमारी शुरू की गयी। होटल के मैनेजरों से भी पूछताछ की जा रही है।

इनाम-पता किया चेक: हाल ही में बसों का परिचालन शुरू हो जाने के बाद इन होटलों में यात्री ठहरने के लिये जाते हैं। पुलिस इस पहलू पर भी जांच कर रही है कि होटलों के भीतर रखे रजिस्टर में यहां ठहरने वाले यात्रियों का नाम-पता लिखा जाता है या नहीं।

होटलों में रखने हैं सैनेटाजर: अनलॉक 1 में होटल और रेस्टोरेंट खोलने की अनुमति सबसे बाद में दी गई। इसका कारण यहां भीड़भाड़ है। होटलों में बाहर से आए लोग ठहरते हैं। उनसे संक्रमण फैलने का खतरा रहता है। इसीलिए होटलों में थर्मल स्क्रीनिंग और सैनेटाइजर गेट पर ही रखने के निर्देश दिए गए थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.