कोरोना मरीज के निधन पर डाक्टर की पिटाई, हड़ताल पर गए पटना एनएमसीएच के सभी जूनियर डाक्टर

कोरोना मरीज के निधन पर डाक्टर की पिटाई, हड़ताल पर गए पटना एनएमसीएच के सभी जूनियर डाक्टर : कोरोना मरीज के निधन पर डाक्टर से हाथापाई का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। ताजा अपडेट के अनुसार पटना एनएमसीएच के जूनियर डाक्टरों ने हड़ताल का ऐलान किया है। इनका कहना है कि जब तक हमें सुरक्षा नहीं दी जाएगी तब तक हम लोग काम पर नहीं लौटेंगे।

बिहार के पटना स्थित एनएमसीएच के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस परिसर स्थित एमसीएच विंग में भर्ती बक्सर निवासी कोरोना मरीज महिला की मौत के बाद गुरुवार की रात आक्रोशित परिजनों ने जमकर बवाल काटा। आरोप है कि आक्रोशित परिजनों न सिर्फ वहां तोड़फोड़ की कोशिश की, बल्कि ड्यूटी पर तैनात जूनियर डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ हाथापाई भी की। इसके बाद सुरक्षा की मांग लेकर जूनियर डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार कर दिया। इसके बाद वहां भर्ती मरीजों की जान अटक गई। उनके परिजन परेशान हो गए। एनएमसीएच प्रशासन और जूनियर डॉक्टरों के बीच देर रात वार्ता चलती रही।

बताया जाता है कि बक्सर निवासी संक्रमित महिला को 11 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने बताया कि मरीज की स्थिति गम्भीर थी। उसका ऑक्सीजन लेबल लगातार गिरता जा रहा था। ऐसी स्थिति में मरीज को बचाया नही जा सका। उधर, महिला की मौत के बाद परिजन इलाज में लापरवाही का आरोप लगाने लगाकर हंगामा करने लगे। यही नहीं, परिजनों ने ट्रॉली पटक दी तथा पर्दे फाड़ दिए। स्थिति यह थी कि परिजनों के हंगामा देखते हुए पीजी डॉक्टर वहां से जान बचाकर भाग गये। इस दौरान अफरातफरी मची रही। सूचना पर अस्पताल अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिंह और उपाधीक्षक डॉ. सरोज कुमार समेत अन्य लोग मौके पर पहुंचे और हंगामा शांत कराया। इसी बीच पुलिस ने हंगामा कर रहे एक युवक को हिरासत में ले लिया। वहीं, जेडीए अध्यक्ष डॉ. रामचंद्र ने कहा कि जब तक उन्हें सुरक्षा नहीं मिलेगी तब तक कार्य का बहिष्कार जारी रहेगा। उधर, अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिंह ने कहा कि जूनियर डॉक्टरों को समझा-बुझाया जा रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *