मूर्ति विसर्जन के दौरान पटना में बवाल, दो गुटों में खू’नी झ’ड़प, फा’यरिंग के बाद जारी है त’नाव

मूर्ति विसर्जन को लेकर पटना सिटी के आलमगंज थाना क्षेत्र के दो मोहल्लों के दो गुटों के बीच सोमवार की देर रात हिंसक झड़प हुई। दोनों गुटों में पहले जमकर पथराव हुआ और फिर एक दर्जन राउंड फायरिंग हुई। असमाजिक तत्वों ने मौके पर पहुंचे सिटी एएसपी की गाड़ी और आलमगंज थाने की पेट्रोलिंग जीप को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। देर रात से अबतक स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

बबुआ गंज एरिया से निकले 50 की संख्या में युवक जय श्री राम का नारा लगाते हुए रात में पकड़े गए युवक को छोड़ने की मांग कर रहे हैं। गायघाट में गिरफ्तार लोगों को छोड़ने की मांग को लेकर काफी संख्या में युवकों ने सड़क जामकर प्रदर्शन किया। पूर्वी एसपी जितेंद्र कुमार के नेतृत्व में गायघाट से अशोक राजपथ पर फ्लैग मार्च निकला गया, जिसमें प्रक्षेत्र के आईजी संजय कुमार भी मौजूद थे।

युवकों के प्रदर्शन से गायघाट से अशोक राजपथ जाने वाले वाहन घंटों कतार में रूके रहे। मौके पर पहुंचे एसडीओ व एएसपी ने सड़क पर खड़े लोगों को हटाया और शांत रहने की सलाह दी।

आधी रात के बाद एडीजी अमित कुमार, आइजी मुख्यालय नैयर हसनैन खान, सेंट्रल आइजी संजय कुमार सिंह, एसएसपी गरिमा मलिक समेत तीन सिटी एसपी और कई थानों की पुलिस मौजूद थी। पुलिस लाइन से अतिरिक्त जवान और सैप जवान भी पहुंच गए। दोनों पक्षों को समझाने बुझाने का प्रयास किया जा रहा था।

सेंट्रल रेंज आइजी संजय कुमार सिंह ने कहा कि घटना की सूचना मिलते ही वरीय अफसर समेत अतिरिक्त जवान को मौके पर भेजा गया है। स्थिति नियंत्रण में हैं। आरोपितों की पहचान की जा रही है।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो बबुआगंज से भद्रघाट की तरफ मां लक्ष्मी और काली की प्रतिमाएं विसर्जन के लिए जा रही थीं। अशोक राजपथ पर गाने को लेकर दो गुट आपस में उलझ गए। पत्थरबाजी शुरू हो गई।

इसी बीच किसी ने पत्थर लगने से प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने की अफवाह उड़ा दी। इसके बाद तनाव बढ़ गया। अशोक राजपथ पर करीब एक किलोमीटर तक लोगों की भीड़ जुट गई। असमाजिक तत्वों ने हवाई फायरिंग कर स्थिति और बिगाड़ दी।

घटना की खबर पाकर आलमगंज थाने की पुलिस और एएसपी पटना सिटी भी पहुंच गए। बेकाबू भीड़ ने पुलिस की गाड़ी पर पथराव शुरू कर दिया। एएसपी की गाड़ी क्षतिग्रस्त करने के बाद आलमगंज थाने की पेट्रोलिंग जीप में तोडफ़ोड़ कर पुलिस को खदेड़ दिया। दोनों गुटों में देर रात तक पथराव होता रहा। स्थिति बिगड़ता देख सिटी एसपी और एक दर्जन थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो पुलिस की मौजूदगी के बावजूद देर रात तक दोनों गुटों में पथराव और बीच-बीच में फायरिंग होती रही। भीड़ ने अशोक राजपथ में दो दर्जन से अधिक दुकानों में तोडफ़ोड़ भी की। इस दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *