दिल्ली से निकले जमातियों के बाद आपातकाल के लिए तैयार हो रहा पटना

Patna:दिल्ली में से मरकज से देश के विभिन्न राज्यों में पहुंचे जमातियों ने हालात बेकाबू कर दिया है. कई ऐसे प्रदेश हैं जहां जमातियों के दिल्ली से वापस आने के बाद संक्रमण की रफ्तार बढ़ी है. बिहार में भी इससे अछूता नहीं है, हालांकि यहां जमातियों से संक्रमण की बात सामने नहीं आई है. इसके बाद भी देश में हए खतरे को लेकर प्रदेश पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है. जमातियों की तलाश करने के साथ ही सुरक्षा को लेकर हर तरह से तैयारी की जा रही है. पटना को आने वाले हर आपात हालात से बचाने को लेकर बड़ी तैयारी की जा रही है. इस तैयारी में आइसोलेशन वार्ड के क्वारंटाइन सेंटर भी तेजी से बनाए जा रहे हैं. पटना की मौजूदा व्यवस्था को पर्याप्त नहीं माना जा रहा है और भविष्य की आशंका को देखते हुए कई बड़ी तैयारी की जा रही है.

एक नजर में क्वारंटाइन सेंटर पर
पटना में क्वारंटाइन सेंटर को लेकर काफी सतर्कता है. पटना शहर से लेकर आसपास के इलाकों में क्वारंटाइन सेंटर बनाने का काम तेज कर दिया गया है. पटना में होटल और अन्य बड़े भवनों को क्वारंटाइन सेंटर बनाए जाने की दिशा में काम तेज हो गया है. जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग लगातार इस दिशा में काम कर रहा है. कई होटल और भवनों को चिन्हित किया गया है और कई की सूची पर मंथन चल रहा है. विभागीय सूत्रों का कहना है कि आने वाले दिनों में 50 से अधिक क्वारंटाइन सेंटर बनाने के लक्ष्य पर काम किया जा रहा है.

डीएम की टीम के साथ लगातर कर रहे मंथन
डीएम कुमार रवि हालात को देखते हुए क्वारंटाइन सेंटर और आइसोलेशन वार्ड को लेकर लगातार मंथन कर रहे हैं. इस दिशा में अब तक कई काम किया गया है. कई स्थानों को चिन्हित किया गया है. इसी क्रम में पटना सिटी के तख्त श्री हरिमंदिर साहब एवं बाल लीला गुरुद्वारा को भी चिन्हित किया गया है. पटना सिटी में भविष्य की तैयारियों को लेकर सिटी होटल को भी चिन्हित किया गया है. डीएम ने पटना सिटी का दौरा कर ऐसे स्थानों की सूची तैयार कराई है जहां क्वारंटाइन सेंटर के साथ अइसोलेशन वार्ड बनाई जा सके.

स्वास्थ्य विभाग की टीम भी तैयार
स्वास्थ्य विभाग की टीम भी तैयार है. बाहर से आए लोगों पर नजर रखी जा रही है और हालात पर भी विशेष नजर है. ऐसे लोगों की पड़ताल की जा रही है जिसमें कोई लक्षण हो या फिर वह ऐसे लोगों के साथ रहे हों जिनमें लक्षण दिखाई पड़े हों. साथ ही ऐसे लोगों की तलाश की जा रही है जो हाल ही में बाहर से आए हैं और उनका कोई सुराग नहीं लग रहा है. सिविल सर्जन कार्यालय में क्वारंटाइन सेंटर बनाने पर मंथन किया जा रहा है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.