बिहार में लोगों के खातों में आए पैसे तो भूले सोशल डिस्टेंसिंग, बैंकों में उमड़ी भीड़

Patna:कोरोना वायरस को लेकर देशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है. गरीब वर्ग को इस लॉकडाउन की वजह से सबसे ज्यादा आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है. लेकिन सरकार हर तरह से इन लोगों की मदद करने में जुटी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनधन योजना के तहत लोगों के बैंक अकाउंट में 500 रुपये आए हैं. इसके अलावा वृद्धावस्था पेंशन, दिव्यांग पेंशन के पैसे भी लोगों के अकाउंट में आ गए हैं. इन पैसों को निकालने के लिए बिहार के किशनगंज में बैंकों के बाहर लंबी-लंबी लाइनें लग गई हैं. लेकिन लोग सोशल डिस्टेंसिंग नियम का पालन करते नजर नहीं आए.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग नियम का पालन करने के बारे में बार-बार कहा जा रहा है. बैंकों के बाहर खड़े हुए लोग इस नियम का पालन नहीं कर रहे हैं. लोग में अपना पैसा निकालने के लिए होड़ मच गई है, जिसकी वजह से वो सोशल डिस्टेंसिंग नियम की पूरी तरह से अनदेखी कर रहे हैं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

जिला के एसडीएम का कहना है कि पुलिस को इस बारे में बताया गया है कि वो लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग नियम का पालन करने के लिए समझाएं और कोरोना वायरस कितनी खतरनाक बीमारी है, इसके बारे में उन्हें बताएं. इसके लिए बैंकों के बाहर चूने से सफेद गोले बनाए गए हैं और लोगों को बोला जा रहा है कि वो इसके अंदर खड़े हों और अपना नंबर आने का इंतजार करें. लेकिन कोई भी इस नियम का पालन करने को तैयार नहीं है.

लोगों को समझाना जिला प्रशासन के सामने एक बड़ी चुनौती बन गई है. प्रशासन अपनी तरफ से हर संभव कोशिश कर रहा है कि लोग किसी तरह का खतरा मोल लेने से बचें. इसके पूरी कोशिश की भी जा रही है. पुलिस भीड़-भाड़ वाले इलाकों में घूम रही है और एसडीएम भी खुद लोगों से मिलकर कोरोना वायरस के खतरे से जुड़ी हर छोटी और बड़ी बातें लोगों को समझाने में लगे हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *