370 के खिलाफ दो पूर्व सैन्य अधिकारी पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा- संविधान के खिलाफ है यह कानून

ये दोनों पूर्व सैन्य अधिकारी कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में नई याचिकाएं दाखिल किये हैं। ये हैं पूर्व एयर वाइस मार्शल कपिल काक और रिटायर्ड मेजर जनरल अशोक मेहता।इससे पहले कि आप दे,शद्रोही बोलना शुरू करें बता दूं एयर वाइस मार्शल कपिल काक ने भारतीय वायु सेना में 35 साल सेवाएं दी है।

1965 के भारत-पाक यु,ध्द में उनकी भूमिका असाधारण थीं।उन्हें विशिष्ट सेवा मेडल भी दिया जा चुका है।उनका मानना है कि अनुच्छेद 370 हटाना संविधान के खिलाफ है।भारत सरकार कश्मीरियों की पहचान खत्म करने पर तुले हैं।यही बात रिटायर्ड मेजर जनरल अशोक मेहता भी बोल रहे हैं।सवाल यह नहीं है कि इनकी याचिकाओं से केंद्र ये फैसला पलट देगा या सुप्रीम कोर्ट कोई बड़ा आदेश दे देगा।

मोदी के प्रिय गोगोई के रहते यह संभव भी नहीं है।क्योंकि मनोहर लाल शर्मा नामक अधिवक्ता के नाम से गोगोई पहले ही काफी टाइमपास कर चुके हैं।सवाल यह है कि उन लोगों की पहचान हो जाये जो जिंदा है और नज़र भी आ रहे हैं।जो तटस्थ नहीं है ।इस दौर में वह पत्थर भी हीरो है जहाँ मोदी के पैर पड़ने से वे लड़खड़ा जाएं।बस इन लोगों का नाम आपको याद रहना चाहिए।भविष्य में आपके बच्चे,आनी वाली पीढ़ी के पास बताने के लिए इतना तो रहेगा न कि जब करोड़ो लोग मु,र्दा थे तब कुछ मिट्टी भर लोग जिंदा थे!

लेखक – विक्रम सिंह चौहान

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *