PM मोदी का नया ड्रामा, इतनी सुरक्षा के बाद भी बीच पर कूड़ा कहाँ से आया

पीटीआई भी ना बहुत झूठी निकली..
दो दिन पहले ख़बर दी थी कि ममल्लापुरम को किले में तब्दील कर दिया गया, सौंदर्यीकरण अभियान जोरों पर है. शहर में दर्जनों पुलिस पोस्ट बनाई गई है, 800 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, बीच के पास बैरिकेड्स लगाए गए हैं, मछुआरों की आवाजाही बंद है, दुकानें बंद करवा दी गई हैं, उन्हें कनात लगा कर ढंक दिया गया है, रंगोलियां बनाई जा रही हैं, सैकड़ों कर्मचारियों को सफाई पर लगाया गया है. महाबलीपुरम के आसपास की सफाई के लिए हाई पॉवर एयर कम्प्रेशर बेस्ड इक्विपमेंट्स का इस्तेमाल किया जा रहा है.


जब इतना कुछ किया गया था तो बीच पर कूड़ा कैसे आ गया? अब अपने प्रधानमंत्री तो ड्रामेबाज हो नहीं सकते? और उनके रहते किसी कर्मचारी ने कामचोरी की हो, ये सवाल ही नहीं उठता.

हो न हो झूठ पीटीआई ने ही बोला था. मोदी जी आ र‌हे हैं, ये सुनकर सारे कर्मचारी छुट्टी पर चले गए होंगे और ममल्लापुरम के दुकानदारों ने कूड़ा बीच पर फेंक दिया होगा.

कैसे-कैसे लोग हैं इस देश में? नए-नए पापा हैं, उनसे ऐसी भी नाराजगी ठीक नहीं है! वैसे काली ड्रेस का आइडिया शानदार था, व्हाइट बैकग्राउंड पर क्या खूब फोटो आई है.

तालियां…

-अविनाश पाठक के फेसबुक वाल से साभार

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *