CM नीतीश को ‘कोरोना’ होना बिहार की राजनीति का एक स्टंट है, असली मुद्दा तो कुछ और है…

PATNA-सीएम ऑफिस से प्रेस विज्ञपित जारी हो चुकी है कि सीएम नीतीश कुमार कोरोनो से ग्रसित हैं। डाक्टरों ने उन्हें आराम करने को कहा है। लेकिन जिस समय में सुशासन बाबू बीमार हुए हैं वह संदेह उत्पन्न करता है। पटना के अधिकांश वरिष्ठ पत्रकार नाम ना छापने की शर्त पर बताते हैं कि कोरोना वोरोना कुछ नहीं है। साहेब फंस रहे थे। जवाब देते नहीं बन रहा था कि आखिरकार आप राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में क्यों नहीं पहुंचे। माहिर खिलाड़ी हैं। मास्टर स्ट्रोक खेल दिया। फिर क्या था। नीतीशजी की जीत हुई और सबके सब हार गए।

सीएम को कोरोना, डॉक्टरों ने दी आराम करने की सलाह

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कोरोना हो गया है। वे पिछले दो-तीन दिनों से अस्वस्थ महसूस कर रहे थे। सोमवार को उन्होंने जांच कराई, जिसमें वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए। उनको दूसरी बार कोरोना हुआ है। फिलहाल वे होम आइसोलेशन में हैं। डॉक्टरों ने उन्हें आराम करने की सलाह दी है। मुख्यमंत्री ने पिछले दो-तीन दिनों में संपर्क में आए लोगों से अपनी कोरोना जांच कराने की अपील की है। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह ‘ललन’ समेत अनेक मंत्री, विधायक, सांसद व नेताओं ने मुख्यमंत्री के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। ध्यान रहे कि कोरोना की मौजूदा लहर में उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद, ऊर्जा बिजेंद्र यादव, शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी, जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, खाद्य आपूर्ति मंत्री लेसी सिंह भी कोरोना पॉजिटिव हुईं। अब ये सभी स्वस्थ हैं।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.