सुविधा में पीछे और जनसंख्या में सबसे आगे, अगले बीस साल में सबसे तेज बढ़ेगी बिहार की

PATNA : जिन राज्यों में शिक्षा सुधर रही है और स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर हो रही हैं वहां आबादी घट रही है। लेकिन पिछड़े राज्यों की स्थिति में सुधार होने के आसार नहीं दिख रहे हैं। एक आकलन के अनुसार 2041 में बिहार की आबादी में सबसे ज्यादा 24.7 फीसदी की वृद्धि होगी और यह महाराष्ट्र को पीछे छोड़कर आबादी के लिहाज से देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन जाएगा।

15 करोड़ के पार होगी आबादी : के संसद में हाल में पेश आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इसके मुताबिक 2021-41 के दौरान बिहार की आबादी में 15 करोड़ को पार कर जाएगी। आबादी के मामले में बिहार से आगे केवल उत्तर प्रदेश होगा जहां की आबादी 17.3 फीसदी बढ़कर 26.9 करोड़ हो जाएगी। देश की कुल आबादी में 40 फीसदी की अकेले हिस्सेदारी उत्तरप्रदेश और बिहार की होगी।

वहीं महाराष्ट्र में महज 5.8 फीसदी जनसंख्या वृद्धि होने का अनुमान है और 12.76 करोड़ के साथ तीसरे स्थान पर होगा। अभी आबादी के लिहाज से महाराष्ट्र देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है। इन राज्यों में वृद्धि दर अधिक : वर्ष 2021 से 2041 के बीच झारखंड में 18.8 फीसदी की रफ्तार से आबादी बढ़ेगी और वह 4.46 करोड़ तक पहुंच जाएगी। जबकि इस अवधि में राजस्थान में 17.8 और मध्य प्रदेश में 15 फीसदी आबादी बढ़ेगी।

तमिलनाडु में कम होंगे लोग : आकलन के मुताबिक 2031-41 के बीच तमिलनाडु आबादी में गिरावट आनी शुरू हो जाएगी। बशर्ते आव्रजन की दर अधिक नहीं हो। वहीं आंध्र प्रदेश में जनसंख्या वृद्धि दर शून्य के करीब पहुंच जाएगी। केरल,कर्नाटक, तेलंगना, पंजाब, हिमाचल प्रदेश , पंजाब और पश्चिम बंगाल की जनसंख्या वृद्धि की दर भी 0.1 से 0.2 फीसदी रह जाएगी। आर्थिक सर्वेक्षण 2019 का आकलन, राज्य की आबादी 2041 में 24.7 फीसदी के वृद्धि के साथ 15 करोड़ को पार कर जाएगी।

(फेसबुक पर DAILY BIHAR LIVE लिख कर आप हमारे फेसबुक पेज को सर्च कर लाइक कर सकते हैं। TWITER पर फाॅलों करें। वीडियो के लिए YOUTUBE चैनल को SUBSCRIBE करें)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.