राबड़ी देवी के घर के बाहर RJD कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, तेजस्वी को दी खामियाजा भुगतने की चेतावनी

Patna: RJD कोटे से MLC प्रत्याशियों के नाम का ऐलान भले ही अब तक नहीं हुआ है, लेकिन विरोध प्रदर्शन शुरू हो चुका है. सोमवार को राघोपुर से आये सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) के घर के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया और पूर्व मंत्री उदय नारायण राय उर्फ भोला राय को MLC प्रत्याशी बनाने की मांग की. इनका कहना है कि जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक बाहर से आये लोगों को MLC बनाने की सूचना मिल रही है. अगर ऐसा हुआ तो हम लोग इसका विरोध करेंगे.

विरोध कर रहे लोगों ने कहा कि हर हाल में तेजस्वी यादव को हम लोगों की मांग माननी पड़ेगी. अगर वो हमारा कहना नहीं माने तो हम लोगों का यह विरोध-प्रदर्शन बदस्तूर जारी रहेगा. इसका खामियाजा आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में तेजस्वी यादव को भुगतना पड़ेगा. बताते चलें कि 1995 में उदय नारायण राय उर्फ भोला राय ने अपनी सीटिंग सीट लालू प्रसाद यादव के लिए छोड़ दी थी, जिसके बाद लालू यादव राघोपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़े और जीत हासिल की. इसके बाद से इसी सीट से राबड़ी देवी भी चुनाव लड़ीं और जीत हासिल की. इन दोनों के चुनाव की सारी जिम्मेदारी उदय नारायण राय उर्फ भोला राय ने ही संभाली थी. फिलहाल लालू परिवार की इस पुश्तैनी सीट से खुद तेजस्वी यादव विधायक हैं.

इसी साल के अंत में होने हैं चुनाव
बिहार में विधानसभा का चुनाव इसी साल होना है ऐसे में अभी तो यह शुरुआत है. देखा जाए तो तेजस्वी यादव के सामने कई चुनौतियां हैं, जिनमें सबसे बड़ी चुनौती इस बात की है कि वो अपने दल के कार्यकर्ताओं और नेताओं को कैसे एकजुट रखें, क्योंकि इन्‍हीं लोगों की बदौलत आगामी बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में बेड़ा पार लगाना है. जो संकेत मिल रहे हैं, उसके मुताबिक लालू प्रसाद यादव चुनाव के दौरान बाहर नही होंगे ऐसे में ऐसे कई निर्णय होंगे तो तेजस्वी को ही लेने होंगे और अगर निर्णय गलत साबित हुए तो इसका खामियाजा तेजस्वी के साथ पूरी पार्टी को भुगतना होगा.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *