चुनाव में राजद का ‘सूपड़ा हुआ साफ’ तो राबड़ी ने जनता को बताया बिकाऊ, बिहार की सियासत में उबाल

पटना: बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और बिहार विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष राबड़ी देवी की एक बयान को लेकर बिहार की सियासत में उबाल आ गया है। दरअसल आरजेडी नेता ने पार्टी के 23वें स्थापाना दिवस पर शुक्रवार को अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, आजकल के चुनाव में बिना पैसा खर्चा किए कुछ नहीं होता है। पैसे खर्च करने पर आप पीछे मत हटिए क्योंकि वोटर भी वोट पैसा लेकर ही देता है। आज का वोटर बिकाऊ हो गया है और वर्कर भी पैसा खोजता है। पूर्व मुख्यमंत्री के इस बयान पर बीजेपी और जदयू ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।

जेडीयू ने इसपर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पार्टी के प्रवक्ता राजीव रंजन ने इसे हैरान करने वाला बयान बताते हुए कहा, राबड़ी जी और उनके कुनबे को जनता ने आजिज होकर राजनीति से बाहर किया है। हालांकि नीतीश जी के साथ आने से आरजेडी को बड़ी पार्टी बनने का अवसर मिला था, लेकिन लोकसभा चुनाव में हुए सूपड़ा साफ होने से आरजेडी को सबक मिला है। जनता अब भ्रष्टाचार और अहंकार को जानती है।

वहीं बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद ने भी ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, आदरणीय चाची! लोकतंत्र में जनता किसी की जागीर नहीं है। लोकसभा चुनाव में सूपड़ा साफ होने के बाद राजद का वजूद संकट में देख आप शायद भयाक्रांत है। इसी जनता ने वोट देकर आपको भी सत्ता सौंपी थी। सत्ता के सपना बनते ही बिहार की जनता को बिकाऊ बोलना ठीक नहीं है चाची’

इस कार्यक्रम में राबड़ी देवी ने अपने वर्करों की भी जमकर क्लास ली थी। उन्होंने कहा कि राजद के वर्कर अब कुर्ता सिलाकर नेता बन गए है। अब वे पार्टी के लिए काम नहीं कर रहे है। लिहाजा राजद के नेता को अब जनता नहीं पहचान रही।राबड़ी ने कहा कि सिर्फ कुर्ता पहनने से कुछ नहीं होने वाला बल्कि सड़कों पर संघर्ष करना होगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *