बिहार के बक्सर का राज भूषण बना अफसर, BPSC परीक्षा में 90 रैंक, छोटा भाई है इसरो में वैज्ञानिक

PATNA- छोटा भाई ISRO में वैज्ञानिक, बड़ा भाई बना राजस्व अधिकारी, BPSC में 90वां रैंक लाकर पाई सफलता, बीटेक के बाद शुरू की थी तैयारी : बक्सर के एक साधारण परिवार के बेटे राज भूषण सिंह ने बगैर किसी कोचिंग संस्थान के सहारा लिए अपने कठिन परिश्रम के बदौलत दूसरे प्रयास में बीपीएससी 68वीं में 90वां रैंक हासिल कर राजस्व अधिकारी बनकर जिले का नाम रोशन किया है। डुमरांव अनुमंडल क्षेत्र के ब्रह्मपुर गांव के मध्यमवर्गीय परिवार से आने वाले राजभूषण सिंह ने 68वीं BPSC की परीक्षा में सफलता हासिल की है।

इनकी चयन राजस्व अधिकारी के पद पर हुई है वही इनके इस सफलता से परिवार समेत पूरे गाँव में खुशी का माहौल है। इससे पूर्व पिछले साल अगस्त 2023 में राज भूषण के छोटे भाई आशीष भूषण सिंह ने ISRO में वैज्ञानिक के तौर पर चयनित होकर जिले को गौरवान्वित किया था। जिसके बाद लोग दोनों भाई राज भूषण और आशीष भूषण को समाज और युवाओं के लिए प्रेरणा बता रहे है।

राज भूषण सिंह के पिता भरत भूषण सिंह वर्तमान में रघुनाथपुर व्यापार मंडल अध्यक्ष सह ब्रह्मपुर पैक्स अध्यक्ष एवं पैक्स संघ के जिलाध्यक्ष है। वही माता किरण सिंह गृहणी है जबकि दादा मार्कण्डेय सिंह ब्रह्मपुर पशु मेला के मालिक एवं पूर्व जिला पार्षद है।

बातचीत के दौरान राज भूषण सिंह के पिता भरत भूषण सिंह ने बताया कि बच्चों के गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए शुरू से ही वे गम्भीर रहें। इसलिए, बचपन में कुछ सालों तक गाँव पर रहने के बाद दोनों बेटों को राजधानी पटना लेकर चले गए। जहाँ माँ किरण सिंह की देखरेख में बेटों की पढ़ाई लिखाई अच्छे माहौल में कराया गया।

पिता ने बताया कि राज भूषण सिंह ने प्रारंभिक शिक्षा गाँव पर करने के बाद लोयला हाई स्कूल पटना से मैट्रिक तथा इंटरमीडिएट बेहतर अंकों से पास किया। उसके बाद मनिपाल विश्वविद्यालय जयपुर से फर्स्ट डिवीजन से बीटेक की। उन्होंने बताया कि उसके बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में जुट गया।

इस दौरान गुरु के तौर पर माता-पिता से मार्गदर्शन लेकर योजनाबद्ध तरीके से तैयारियां शुरू की। इस बीच किसी तरह का कोई कोचिंग कही से नही ली और घर पर ही रहकर सेल्फ स्टडी पर विशेष फोकस करते हुए 8 से 10 घंटा प्रतिदिन अध्ययन किया।

परिणामस्वरूप दूसरे प्रयास में BPSC जैसी कठिन परीक्षा में सफलता प्राप्त हुई। इसके पहले एक बार बीपीएससी 66वीं की परीक्षा राज भूषण सिंह ने दी थी लेकिन, इंटरव्यू तक पहुँचने के बाद भी कामयाबी नहीं मिल सकी। हालांकि, इससे हार नही मानी और फिर से तैयारियों में जुटा नतीजन 68वीं बीपीएससी में 90 रैंक आया और रेवेन्यू ऑफिसर का पद मिला।

राज भूषण सिंह ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता और दादा मार्कण्डेय सिंह को देते है उनका कहना है कि घर-परिवार से भरपूर सहयोग और हिम्मत भी मिला जिससे मंजिल आसान होती चली गई। उन्होंने बताया कि वह कभी परीक्षा को लेकर घबराएं नही बल्कि पॉजिटिव सोच के साथ चुनौतियों का सामना किया।

राज ने बताया कि फिलहाल तो वह राजस्व अधिकारी बने है। लेकिन उनका सपना है कि वह भविष्य में एक आईएएस अधिकारी बन कर देश की सेवा करें,इसके लिए यूपीएससी की तैयारी कर रहे है. राज ने उन छात्रों को सन्देश दिया जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है अथवा करना चाहते है। उन्होंने बताया कि अच्छी और सीमित पुस्तकें मन लगाकर पढ़े और कोचिंग सेंटर पर आश्रित न होकर खुद से सेल्फ स्टडी पर ज्यादा फोकस करें तो निश्चित रूप पर सफलता प्राप्त होगी।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *