बिहार में बनेगा विश्व का सबसे बड़ा राम मंदिर, 2500 क्विंटल के शिवलिंग की होगी स्थापना, लागत 500 करोड़

बिहार में जहां रुकी थी भगवान राम की बारात वहां बन रहा दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर। 2500 क्विंटल के शिवलिंग की होगी स्थापना।बिहार (Bihar) के पूर्वी चंपारण के जानकीनगर की मान्यता है कि यहां सीता से विवाह के बाद जनकपुर से लौटते समय राम की बारात रुकी थी. अब इस स्थान पर विश्व के सबसे विशाल राम मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण हो रहा है. यह विराट रामायण मंदिर 270 फीट ऊंचा होगा, जो हिन्दू मंदिर के दृष्टिकोण से विश्व में सर्वाधिक है. इसकी लंबाई 1080 फीट और चौड़ाई 540 फीट है. विराट रामायण मंदिर परिसर के तीन तरफ सड़क है. अयोध्या से जनकपुर तक बन रहा राम-जानकी मार्ग विराट रामायण मंदिर से होकर गुजरेगा. पटना के महावीर मंदिर ट्रस्ट की ओर से बनवाए जा रहे इस मंदिर के निर्माण का काम नोएडा की कंपनी एसबीएल कंस्ट्रक्शन को दिया गया है.

मंदिर की लागत 500 करोड़ होगी. ट्रस्ट के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि इस मंदिर में दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग स्थापित होगा. ब्लैक ग्रेनाइट से बने 250 टन वजनी शिवलिंग की ऊंचाई 33 फीट होगी. शिवलिंग का निर्माण तमिलनाडु के महाबलीपुरम में हो रहा है. अभी तंजौर में 27 फीट का शिवलिंग विश्व का सबसे ऊंचा शिवलिंग माना जाता है.

बिहार के कटिहार के एक राम मंदिर में पिछले 40 साल से नॉनस्टॉप रामायण का पाठ हो रहा है. यज्ञशाला मंदिर में पिछले चार दशक से हर क्षण रामायण का पाठ किया जा रहा है. हैरानी की बात तो यह है कि इस मंदिर में रामायण पाठ करवाने के लिए अगले एक साल तक की एडवांस बुकिंग हो रखी है. आस्था की इस अद्भुत कहानी की शुरुआत 15 दिसंबर 1982 में हुई थी. तब इस मंदिर में एक वट वृक्ष के नीचे बजरंगबली की प्रतिमा थी. मथुरा से आए एक बाबा, जिनका नाम मौनी बाबा था. उन्होंने यहां रामायण पाठ की शुरुआत कराई.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.