रतन टाटा ने किया भंडाफोड़, कहा- मैंने कभी नहीं कहा कि शराब को आधार से लिंक कर बेचा जाना चाहिए

Ratan Tata ने खुद किया झूठ का पर्दाफाश, जानिए क्या है शराब को आधार से लिंक करने वाला यह पूरा मामला : Ratan Tata: इंटरनेट मीडिया पर सूचनाओं की बाढ़ है, लेकिन इनमें से कई झूठी भी होती है। अब मशहूर उद्योगपति रतन टाटा (Ratan Tata) के नाम पर फेक न्यूज जारी की गई, जो वायरल भी हो गई।

इसके बाद खुद Ratan Tata को सच सामने लाने के लिए आगे आना पड़ा। यह पूरा मामला है शराब को आधार से लिंक करने का। दरअसल, इंस्टाग्राम पर Ratan Tata के नाम से एक मैसेज वायरल हुआ। इस मैसेज के मुताबिक, Ratan Tata ने कहा, आधार कार्ड से शराब की बिक्री होनी चाहिए। शराब खरीदारों के लिए सरकारी खाद्य सब्सिडी बंद कर दी जानी चाहिए।

मैसेज में आगे लिखा गया, बिजनेस लीडर ने आज दोपहर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक पोस्ट साझा की। रतन टाटा ने लिखा, जिनके पास शराब खरीदने की सुविधा है, वे निश्चित रूप से भोजन खरीद सकते हैं। जब हम उन्हें मुफ्त खाना देते हैं तो वे शराब खरीद लेते हैं।

मैसेज बहुत ज्यादा फैल गया तो खुद Ratan Tata को आगे आना पड़ा। टाटा संस के मानद चेयरमैन रतन टाटा ने इस पोस्ट को फर्जी बताया। 83 साल के रतन टाटा ने लिखा, यह मेरे द्वारा नहीं कहा गया। धन्यवाद। इन्हें इस पोस्ट के साथ फेक न्यूज लिखा और GIF भी शेयर की।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP पर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *