राशन कार्ड लाओ आयुष्मान कार्ड बनाओ… बिहार में सरकारी राशन दुकान पर रोज बनेगा 435000 कार्ड

पांच साल में 98 लाख कार्ड ही बन सके हैं , 5 लाख तक का निशुल्क इलाज होगा, विशेष अभियान के पहले दिन 10 लाख कार्ड बने, लक्ष्य सूबे में रोज 4.36 लाख आयुष्मान कार्ड बनेंगे :

आयुष्मान कार्ड बनाने में तेजी लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने राज्यभर में प्रतिदिन 4 लाख 35 हजार 754 कार्ड बनाने का लक्ष्य दिया है। पूर्वी चंपारण में सबसे अधिक 22 हजार 606 कार्ड प्रतिदिन बनाना है। मुजफ्फरपुर में 20 हजार 832, भागलपुर में 13 हजार 190 और गया में 17 हजार 38 कार्ड प्रतिदिन बनाने का लक्ष्य दिया गया है।

सूबे में गरीब परिवारों को सालाना पांच लाख रुपए तक मुफ्त इलाज की सुविधा दिलाने के लिए आयुष्मान कार्ड बनाने की रफ्तार धीमी है। लगभग 5 साल में अब तक 11 फीसदी ही कार्ड बने हैं। केंद्र और राज्य की दोनों योजना के तहत 1.79 करोड़ परिवारों के 8 करोड़ 7150763 लोगों का कार्ड बनाना है। दो मार्च को विशेष अभियान को जोड़कर 98 लाख कार्ड बने हैं। इसमें शनिवार को विशेष अभियान के पहले दिन ही 10 लाख कार्ड शामिल हैं। इसके पहले लगभग 88 लाख कार्ड बने थे। 2018 से शुरू हुई इस योजना के लिए बिहार में तब चिह्नित 1 करोड़ 8 लाख परिवारों के 5 करोड़ 55 लाख सदस्यों का अलग-अलग कार्ड बनाना था। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आयोग्य योजना से 1 करोड़ 21 लाख परिवारों को इस योजना में शामिल कर लिया है। इससे छूटे 86 लाख परिवारों कासे मुख्यमंत्री जन आयोग्य योजना का लाभ मिलना है। इस तरह अब बिहार के कुल 1 करोड़ 79 लाख 511 परिवारों के 8 करोड़ 71 लाख 50 हजार 763 व्यक्तियों का आयुष्मान कार्ड बनाना है। दो मार्च से कॉमन सर्विस सेंटर के साथ ही जन वितरण प्रणाली की दुकान में आयुष्मान कार्ड बनना शुरू हुआ है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *