जनता से PM मोदी का आग्रह, राशन-पानी के लिए परेशान ना हो, कोई चीज की कमी नहीं होगी

PM Modi की अपील – सोशल ढिस्टेन्शिंग आवश्यक और कारगर भी, घर से मत निकलिये

New Delhi : PM Narendra Modi ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए लोगों से अपील की कि आप मुझे अपना कुछ हफ़्तों का बहुमूल्यसमय दे दीजिये. अभी तक साइंस इसका इलाज और टीका नहीं खोज सका है. इसलिये कोरोना संकट से निपटने में नागरिकों की मुख्यभूमिका है.

पूरे विश्व में कोरोना को लेकर हंगामा है। ऐसे में यह सोचना कि भारत में कुछ नहीं होगा, यह सोच ग़लत है. इससे लड़ने के लिये संकल्पऔर संयम बेहद जरूरी है.सोशल ढिस्टेन्शिंग आवश्यक और कारगर भी, घर से मत निकलिये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निरंतर कोरोना वायरस की स्थिति पर समीक्षा बैठक कर रहे हैं. वहीं पीएम मोदी ने बीते मंगलवार को संसद भवन मेंभारतीय जनता पार्टी के संसदीय दल की बैठक में सांसदों को कोरोना वायरस के मसले पर संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा किजिन राज्यों में हम विपक्ष में हैं, वहां पर 15 अप्रैल तक कोई आंदोलन न करें. अगर जरूरी हो तो ज्ञापन ही दें. पीएम मोदी ने मीडिया कीतारीफ भी की और कहा कि मीडिया के बड़े तबके ने कोरोना वायरस को लेकर लोगों में जागरुकता फैलाई है.

वहीं कोरोना वायरस को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी लगातार सोशल मीडिया पर लोगों से संवाद कर रहे हैं. पीएम मोदी ट्विटर पर यूजर्स केट्वीट को रिट्वीट कर लोगों का हौसला बढ़ा रहे हैं. इसके साथ ही लोगों से कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए भी अपील कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर पीएम मोदी ने कोविड-19 को लेकर कई ट्वीट किए हैं. पीएम ने ट्विटर पर लिखा कि कई लोग डॉक्टरों की तारीफ कररहे हैं, जो उनका मनोबल बनाने का काम करेगा. कोरोना से लड़ाई लड़ने में डॉक्टर, नर्स, एयरपोर्ट स्टाफ समेत कई लोग जी तोड़ कामकर रहे हैं.

कोरोना वायरस के चलते प्रधानमंत्री लोगों से गैर–जरूरी यात्राओं को टालने और विदेश ना जाने की अपील कर चुके हैं. पीएम मोदी काकहना है कि गैर–जरूरी यात्रा करना और लोगों के संपर्क में आने से बचा जाए तो बेहतर होगा. इसके साथ ही पीएम मोदी ने ट्विटर परकहा है कि वे नागरिकों की सुरक्षा के लिए हर संभव कोशिश करेंगे.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस पर बीते रविवार सार्क देशों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की. इस दौरानउन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है. पीएम मोदी ने कहा कि हमें कोरोना से घबराने की नहीं बल्कि साथलड़ने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि सार्क देशों को सावधानी बरतनी होगी.

इस चर्चा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘हम गंभीर चुनौतियों से जूझ रहे हैं. हमें नहीं पता है कि इस महामारी का स्वरूप क्या होगा. हमएक साथ आकर इससे निपट सकते हैं. रणनीति के लिए हमें तैयार रहना होगा. भारत कोरोना वायरस से निपटने के लिए 1 करोड़ डॉलरदेने के लिए तैयार है.

बता दें कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या 175 से ज्यादा पहुंच गई है. वहीं अब तक 4 लोगों की भारत में कोरोनावायरस के कारण मौत भी हो चुकी है. वहीं दुनिया में 9 हजार से ज्यादा लोगों की अब तक कोरोना वायरस के कारण मौत हो चुकी है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *