नेशनल व स्टेट हाईवे से जुड़ेंगे अनुमंडल, थाना, प्रखंड, बाजार, अस्पताल जैसे महत्वपूर्ण स्थान

गांवों के सभी महत्वपूर्ण स्थान नेशनल हाइवे और स्टेट हाइवे से जुड़ेंगे। यही नहीं निकट के गांवों को भी आपस में जोड़ा जाएगा। राज्य सरकार ने ग्रामीण सड़क निर्माण की योजना को और विस्तार देते हुए नयी कार्ययोजना बनाने में जुट गयी है। सुलभ संपर्कता को लेकर नीतीश सरकार ने अपने सात निश्चय पार्ट-2 में इसे बेहद महत्वपूर्ण माना है। इस के तहत शहरी क्षेत्रों में जाम की समस्या से मुक्ति व सुचारु यातायात के संचालन के लिए आवश्यकतानुसार बाईपास और फ्लाईओवर का भी निर्माण कराया जाना है।

नई कार्ययोजना के तहत आसपास के गांवों को जोड़ते हुए मुख्य पथों व महत्वपूर्ण स्थानों जैसे प्रखंड, थाना, अनुमंडल, बाजार, अस्पताल आदि को नेशनल हाइवे और स्टेट हाइवे से संपर्कता प्रदान की जाएगी। इन्हें सड़क मार्ग से जोड़ने से ग्रामीण क्षेत्र में यातायात सुविधा का विस्तार होगा। साथ ही आम लोगों को कहीं भी आने-जाने के लिए बेहतर सड़क उपलब्ध होगा। शहरों में बाईपास और आवश्यकतानुसार फ्लाईओवर भी बनेंगे।
संपर्क : निकट के गांवों को आपस में जोड़ा जाएगा

बसावटों तक सड़क पहुंचाने की योजना
नीतीश सरकार ने ग्रामीण सड़कों को लेकर अपना पूरा ध्यान लगाया हुआ है। 1,21 लाख बसावटों में से 1.05 लाख बसावटों तक संपर्कता प्रदान की जा चुकी है। शेष बसावटों तक सड़क पहुंचाने की योजना पर तेजी से काम हो रहा है। ग्रामीण टोला संपर्क निश्चय योजना के तहत 100 से 249 की आबादी तक सड़क बनाई जा रही है। 4643 टोलों को बारहमासी सड़क से जोड़ने का काम हो रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *