अभी-अभी : मधुबनी नरसंहार मामले में पीड़ित परिवार को पटना हाईकोर्ट से मिली बड़ी राहत


SANTOSH SINGH, EDITOR, KASISH NEWS : पत्रकारिता दोधारी तलवार है जब कभी म्यान से निकलता है तो कोई ना कोई पक्ष आहत जरुर होता है। मधुबनी नरसंहार मामले में जैसे ही मुख्य अभियुक्त के गिरफ्तारी की खबर आयी वैसे ही 9 दिनों तक चुप्पी साधे कापुरुष हमला बर हो गये और मुझसे सवाल कर रहे हैं कि प्रवीण झा को आप रावण सेना का चीफ कैसे बता रहे थे, आप इस तरह का नैरेटिव चला कर मधुबनी में दो जाति के बीच तनाव पैदा करवाना चाह रहे थे।

इस तरह के सवाल करने वाले मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में भी सवाल कर रहे थे वैसे मैं इस तरह के सवालों से कभी घबराता नहीं हूं और ना ही डरता हूं ये हमारे पत्रकारिता जीवन के लिए एक मेंडल ही है।

सकून है पत्रकारिता धर्म एक बार फिर से स्थापित हुआ । वही पटना हाईकोर्ट से एक बड़ी खबर आ रही है कि पिछले कई माह से जमानत का इन्तजार कर रहे पीड़ित के भाई को हाई कोर्ट ने जमानत दे दिया है जी है पीड़ित परिवार में बचा एकमात्र भाई जिसको रावण सेना के संरक्षक एससी एसटी केस में फंसा कर जेल भिजवा दिया था आज हाईकोर्ट ने जमानत दे दिया है।

हाईकोर्ट में पिछले कई माह से केस की सुनवाई नहीं होने के कारण संजय सिंह को जमानत नहीं मिल पा रही थी ।भले ही मधुबनी नरसंहार मामले में जाति सेना के रवैया पर सवाल खड़े किये जा सकते हैं लेकिन जाति सेना की सक्रियता नहीं बढ़ती तो रावण सेना के चीफ सहित पांच अपराधी पकड़े नहीं जाते ये भी सही है ।

अगर आप हमारी आर्थिक मदद करना चाहते हैं तो आप हमें 8292560971 पर गुगल पे या पेटीएम कर सकते हैं…. डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *