दिल्ली चुनाव – BJP की हार के साथ ही जीत गया शाहीनबाग़ आंदोलन

दिल्ली चुनाव में मतगणना अंतिम दौर में है, रुझानों के साथ आ रहे चुनावी परिणाम ने संकेत दे दिए हैं कि दिल्ली में फिर से केजरीवाल सरकार बनने जा रही है. लेकिन चुनावी रुझानों के आने के साथ ही देश भर के बीजेपी कार्यालयों में सन्नाटा पसर गया है, बिहार के बीजेपी कार्यालय में भी यही हाल है. बीजेपी कार्यालय में कोई भी नेता नजर नहीं आ रहे हैं. यहां तक कि दिल्ली चुनाव में वोटिंग के बाद पटना पहुंचे बीजेपी के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह भी कहीं सामने नहीं आ रहे हैं. गिरिराज सिंह ने दवा किया था कि दिल्ली में बीजेपी की जीत भारत माता की जीत होगी और शरजील इमाम, शाहीनबाग़ की हार होगी. लेकिन परिणाम गिरिराज सिंह के बयानों से ठीक उलट हुए हैं. परिणाम बीजेपी के खिलाफ आई है. हालंकि पिछले चुनाव परिणामों की अपेक्षा बीजेपी को इस बार सीटों में इजाफा होता हुआ दिख रहा है.

बता दें कि दिल्ली में मतदान से ठीक पहले हुए एक घटनाक्रम से चुनावी माहौल और गर्म हो गया था. आम आदमी पार्टी ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर दिल्ली में मतदाताओं को पैसे बांटने का आरोप लगाया तो गिरिराज सिंह ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि मेरे ऊपर जानलेवा हमला किया गया है. मैं दुकान में सामान खरीदने गया था. साथ ही गिरिराज सिंह ने दिल्ली चुनाव पर कहा था कि भारत माता जीतेगी, शरजील इमाम और इस्लामिक स्टेट हारेगा. वहीं गिरिराज सिंह ने केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा कि केजरीवाल बताएं कौन सा उनका चेहरा है. शरजील इमाम, शाहीनबाग, हनुमान जी राक्षस या हनुमान जी दुख भंजर.

वहीँ आप राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने एक वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा था कि, ‘बीजेपी के केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को रिठाला विधानसभा में लोगों ने रुपये बाँटते हुए पकड़ा है. संजय सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने अपने सांसदों को अलग-अलग विधानसभाओं में पैसे और दारू बाँटने की जिम्मेदारी दी हुई है. मालूम हो कि शाहीन बाग में महिलाओं का एक बड़ा जत्था डेढ महीने से संशोधित नागरिकता कानून एवं एनआरसी व एनपीआर के खिलाफ धरने पर बैठा है. भाजपा के कई नेताओं ने चुनाव में प्रचार के दौरान खासकर यह आरोप लगाया कि विपक्षी पार्टियों का इन्हें संरक्षण रहा है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *