DGP को सीएम नीतीश का आदेश, शराबी नहीं शराब के बड़े कारोबारियों को गिरफ्तार करो

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि विशेष ड्राइव चलाकर शराब के डिस्ट्रीब्यूशन व सप्लाई चेन को ध्वस्त किया जाए। शराब के बड़े और असली धंधेबाज गिरफ्तार किए जाएं। वे शुक्रवार को शराबबंदी की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब के धंधे में लिप्त बड़े लोगों तथा असली धंधेबाज को पकड़ने से व्यापक असर होगा। एक्साइज एवं प्रोहिविशन की सेंट्रल कमांड टीम पूरी मुस्तैदी से काम करे। शराब की तस्करी वाले मार्गों को चिह्नित कर उस पर विशेष निगरानी रखी जाए। बॉर्डर एरिया पर भी विशेष नजर रहे। मुख्यमंत्री ने कहा-प्रोहिविशन कॉल सेंटर में आने वाली सूचनाओं के आधार पर तेजी से दोषियों की गिरफ्तारी हो। शराबबंदी के पूर्व जो शराब के व्यवसाय से जुड़े थे, अब वे किस कार्य में लगे हैं, उन पर विशेष नजर रखी जाए। राज्य की अधिकतर जनता शराबबंदी के पक्ष में है।

सीएम ने कहा-कोरोना काल में भी चिकित्सकों ने शराब न पीने की सलाह दी है। एक रिपोर्ट में बताया गया है कि शराब पीने वालों पर कोरोना वैक्सीन का असर कम हो जाता है। बैठक के दौरान आईजी (मद्य निषेध) अमृत राज ने मद्य निषेध के बारे में विस्तार से बताया। विभाग की उपलब्धि, गिरफ्तारी, शराब की बरामदगी की विस्तृत जानकारी दी। बैठक में मुख्य सचिव दीपक कुमार, अपर मुख्य सचिव गृह एवं मद्य निषेध आमिर सुबहानी, डीजीपी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री के खास निर्देश{उत्पाद एवं मद्य निषेध की सेंट्रल कमांड टीम मुस्तैदी से काम करे{शराब की तस्करी के रूट व बॉर्डर एरिया पर विशेष नजर रहे

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *