बिहार के सिमरिया में बनेगा देश का सबसे लंबा 14 KM का रेल सह सड़क पुल, 2022 में होगा बनकर तैयार

नया पुल वर्तमान राजेंद्र पुल के समानांतर और पटना छोर की तरफ वर्तमान पुल से 60 मीटर की दूरी पर बनाया जा रहा है। इस पुल पर डबल रेल ट्रैक हाेगा। एप्रोच लाइन सहित कुल लंबाई 14 किमी होगी। इस पुल के बनने के बाद इस रूट पर ट्रेनाें का कंजेशन कम हाेगा। साथ ही नार्थ बिहार अाैर नार्थ इंडिया के लिए ट्रेनाें की संख्या बढ़ जाएगी। अभी नार्थ बिहार की तरफ कम ट्रेनें चलती हैं। पुल पर स्टील के स्लीपर पर ट्रैक बिछेगा, जिसपर 90 किलाेमीटर की रफ्तार से ट्रेनें गुजर सकेंगी।

dailybihar.com, dailybiharlive, dailybihar.com, national news, india news, news in hindi, ।atest news in hindi, बिहार समाचार, bihar news, bihar news in hindi, bihar news hindi NEWS

उत्तर बिहार को पटना, झारखंड और बंगाल से जोड़ने के लिए एकमात्र रेल पुल राजेंद्र सेतु है। मोकामा स्थित राजेंद्र सेतु पर प्रतिदिन 100 से भी ज्यादा ट्रेनें गुजरती है। राजेन्द्र पुल पर ट्रेनों के लोड के कारण कई बार ट्रेनें लेट भी होती है।मोकामा स्थित राजेन्द्र पुल के समानांतर नए डबल ट्रैक रेल पुल का निर्माण किया जा रहा है। इस पुल का काम तेजी से चल रहा है। गंगा नदी के मध्य कई पिलरों का नदी से उपर तक निर्माण हो चुका है। पुराने पुल से 60 मीटर की दूरी पर बन रहा रामपुर डुमरा टाल बिहार का पहला डबल रेल ट्रैक पुल होगा।

dailybihar.com, dailybiharlive, dailybihar.com, national news, india news, news in hindi, ।atest news in hindi, बिहार समाचार, bihar news, bihar news in hindi, bihar news hindi NEWS

राजेंद्र पुल के समानांतर बन रहे पुल डबल ट्रैक का होगा। इस पुल की अप्रोच लाइन सहित कुल लंबाई 14 किमी होगी। सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि यह पुल डबल ट्रेक के साथ चालू होगा। इस पुल के निर्माण होने से रेल ट्रैकों पर दबाव कम होगा जिससे भविष्य में ट्रेनों की संख्या भी बढ़ेगी। राजेंद्र सेतु पर अत्यधिक दबाव के कारण ही उत्तर बिहार से पटना एवं झारखंड और बंगाल के लिए नई ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा। पुल पर स्टील के स्लीपर ट्रैक बिछाए जाएंगे जिससे ट्रेनों को 90 किमी प्रति घंटा के रफ्तार से चलाया जा सकेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *