देश में लगे पहले स्मॉग टावर का सीएम अरविंद केजरीवाल आज करेंगे उद्घाटन

दिल्ली के लिए स्मॉग एक बड़ी समस्या है। स्मॉग की वजह से दिल्ली वालों को दम घूँटने वाली हवा में जीना पड़ रहा है।लेकिन अब इसके समाधान की तरफ कदम उठाया गया है। वो समाधान है स्मॉग टावर का लगाना। दिल्ली में पहला स्मॉग टावर लगाया गया है। जिसका उद्घाटन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल करने वाले हैं। यह स्मॉग टावर दूषित हवा को अपने अंदर खीचेंगा साफ हवा को छोड़ेगा। यह स्मॉग टावर दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस पर लगाया गया है। यह स्मॉग टावर 1 वर्ग किलोमीटर एरिया की प्रदूषित हवा को अपने अंदर लेकर साफ हवा की सप्लाई करेगा। स्मॉग टॉवर वातावरण से दूषित हवा को खींचेगा साफ करके 10 मीटर की ऊंचाई पर छोड़ेगा। ये केजरीवाल सरकार का पायलट प्रोजेक्ट है।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि मानसून के मौसम के बाद स्मॉग टावर पूरी क्षमता से काम करेगा। उन्होंने कहा कि सीएम केजरीवाल स्मॉग टावर का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद विशेषज्ञ प्रदूषण पर इसके प्रभाव का पता लगाएंगे। नतीजों के आधार पर हम उपकरण लगाने पर फैसला लेंगे।
इसे दिल्ली कैबिनेट ने पिछले साल अक्टूबर में एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में मंजूरी दी थी, लेकिन कोविड -19 महामारी के कारण इसमें देरी हुई। मंत्री ने कहा कि स्मॉग टॉवर के चालू होने के बाद उसकी प्रभावशीलता का पता लगाने के लिए दो साल का पायलट अध्ययन किया जाएगा।
गोपाल राय ने कहा कि स्मॉग टॉवर के प्रदर्शन प्रभाव का मूल्यांकन विशेषज्ञों द्वारा किया जाएगा, जो सरकार को एक रिपोर्ट सौंपेंगे। फिर प्रदर्शन प्रभावशाली होने पर सरकार दिल्ली में इसी तरह के टॉवर स्थापित करेगी। स्मॉग टॉवर हर सेकेंड में 1000 क्यूबिक मीटर हवा को साफ करेगा। इस स्मॉग टॉवर की दक्षता प्रभाव दिल्ली क्षेत्र के लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा। अगर स्मॉग टॉवर का प्रदर्शन संतोषजनक पाया जाता है, तो हम पूरी दिल्ली में इसी तरह के भी स्मॉग टावरों को स्थापित करेंगे। मुझे विश्वास है कि स्मॉग टॉवर हमारे लिए सकारात्मक परिणाम देगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.