हाजीपुर स्टेशन और सोनपुर मेले को ब’म से उ’ड़ाने की ध-मकी, पोस्टर में लिखा-पाकिस्तान जिंदाबाद

आ-तंकियों ने हाजीपुर जंक्शन और सोनपुर मेला को उ-ड़ाने की दी ध-मकी, लिखा- पाकिस्‍तान जिंदाबाद

बिहार के वैशाली जिले में आतं-की हमले की धम-की के मद्देनजर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। आ-तंकियों ने हाजीपुर जंक्शन और विश्व प्रसिद्ध सोनपुर मेले को तीन दिन के भीतर ब-म से उ’ड़ा देने की ध-मकी दी है। इससे संबंधित पोस्‍टर साटा गया, जो गुरुवार को सोशल मीडिया में वायरल हो गया है।


मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को एक छात्र ने जिला समाहरणालय के मुख्‍स द्वार के निकट आ-तंकी हम’ले की ध’मकी के पोस्‍टर को देखा। पोस्‍टर में ‘जिहाद’ व ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ लिखा था। यह ध-मकी भी थी कि शब्बीर को रिहा करो नहीं तो हाजीपुर स्टेशन और सोनपुर मेला को तीन दिनों के भीतर ब-म से उ-ड़ा देंगे। बताया जाता है कि उस छात्र ने पोस्‍टर की तस्‍वीर लेकर उसे सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। इसके बाद पुलिस व प्रशासन में हड़कम्‍प मच गया।

हाजीपुर के सदर एसडीपीओ राघव दयाल के निर्देश पर नगर व रेल पुलिस (जीआरपी) तथा आरपीएफ ने हाजीपुर जंक्‍शन की सघन जांच की। वहां सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। सोनपुर मेला में भी सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है। लोगों को किसी भी संदिग्ध गतिविधि या वस्तु की सूचना तुरंत देने का निर्देश दिया गया है।


हाजीपुर के सदर एसडीपीओ राघव दयाल ने बताया कि हाजीपुर जंक्‍शन और सोनपुर मेला को ब-म से उ-ड़ाने की ध-मकी वाला पोस्‍टर वायरल हुआ है। हालांकि, जांच के दौरान कोई पोस्‍टर नहीं मिला।

सवाल उठाता है कि आखिर मो. शब्‍बीर है कौन, जिसकी रिहाई के लिए आ-तंकी ह-मले की धम-की दी गई है? शब्‍बीर बिहार में आ-तंकवाद का स्‍ली-पर सेल चलाने वाला एक मदरसा संचालक है। हाजीपुर में एक परिवार ने महुआ बाजार स्थित एक मदरसा (तंजीमी मकतब) के संचालक मो. शब्‍बीर अहमद पर आ-तंकी बनाने के लिए अपने बच्चे (मो. खालिद) को गायब करने का आरोप लगाया था। शब्‍बीर बीते नौ सितंबर को खालिद को लेकर लापता हो गया था। बाद में पुलिस ने उसे मुंबई में गिरफ्तार किया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *