बिहार विधानमंडल के लिए आज ऐतिहासिक दिन, ज्ञान भवन में मानसून सत्र का आयोजन

Patna: कोरोना महामारी ने बिहार विधानमंडल के लिए आज की तारीख को ऐतिहासिक बना दिया. बिहार विधान मंडल का मानसून सत्र आज ज्ञान भवन में आयोजित हो रहा है. मानसून सत्र को लेकर तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. 100 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार है कि सदन की कार्यवाही विधानमंडल भवन के बाहर आयोजित की जा रही है. मानसून सत्र का आयोजन पहले 3 से 6 अगस्त तक होना था लेकिन संक्रमण को देखते हुए इसे छोटा कर दिया गया है. अब मानसून सत्र की बैठक आज ही एक दिन में निपटा ली जाएगी.

सुबह 11 बजे विधानमंडल के मानसून सत्र की बैठक शुरू होगी इसके लिए एक ज्ञान भवन में तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. रविवार को प्रशासनिक अधिकारियों ने तैयारियों का अंतिम तौर पर जायजा लिया था. विधानसभा की कार्यवाही स्पीकर विजय कुमार चौधरी के प्रारंभिक संबोधन के साथ होगी. इसके बाद सदन में शोक प्रकाश होगा. विधानसभा के पटल पर राज्यपाल द्वारा स्वीकृत अध्यादेशों को रखा जाएगा साथ ही साथ अनुपूरक बजट भी सरकार की तरफ से सदन में पेश किया जाएगा. आज की कार्यवाही में लंच आवर नहीं रखा गया है. दोनों सदनों की पूरी कार्यवाही एक ही शिफ्ट में होगी. विधायी और वित्तीय कार्य निपटाने के बाद सदन में कोरोना और बाढ़ के ऊपर चर्चा होगी. इसमें सभी दलों के सदस्य अपनी राय रखेंगे और आखिर में सरकार का जवाब होगा. इस चर्चा के बाद मानसून सत्र की कार्यवाही खत्म हो जाएगी.

आज आयोजित होने वाला मानसून सत्र इस लिहाज से भी महत्वपूर्ण है क्योंकि 16वीं विधानसभा का यह अंतिम सत्र होगा. इसके बाद बिहार में विधानसभा चुनाव होने हैं लिहाजा सभी राजनीतिक दल अपनी अपनी तरफ से जनहित के मुद्दों को सत्र में उठाना चाहते थे लेकिन संक्रमण के कारण सत्र बिल्कुल छोटा हो गया. प्रश्नोत्तर काल और शून्यकाल जैसी कार्यवाही सदन में नहीं होगी और सीधे प्वाइंट टू प्वाइंट एजेंडे के मुताबिक के सदन चलेगा.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.