IPS परिवार की कहानी, बाप-बेटा-बेटी-दामाद सबने UPSC परीक्षा पास कर रच दिया नया इतिहास

देश में पहली बार : 1 परिवार के 4 सदस्य IPS ऑफिसर, पिता, बेटा-बेटी व दामाद सबने पास की UPSC परीक्षा : नई दिल्ली, 10 जून। किसी अफसर के लिए यह बड़े गर्व की बात है कि बच्चे भी उन्हीं के नक्शे कदम पर चलकर कामयाबी के शिखर को छू लें। ऐसा आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के एक गांव अमुदला लंका में हुआ है। यहां के एम विष्णु वर्धन राव का परिवार पुलिस अफसरों वाला है।

राव के परिवार में एक नहीं बल्कि चार आईपीएस अफसर हैं, जिनमें खुद एम विष्णु वर्धन राव, इनका बेटा एम हर्षवर्धन, बेटी एम दीपिका और दामाद विक्रांत पाटिल शामिल है। संभवतया यह भारत का पहला परिवार है, जिसमें पिता, बेटा, बेटी व दामाद विक्रांत पाटिल आईपीएस हैं। चारों ही वर्तमान में​ विभिन्न पदों पर सेवाएं दे रहे हैं।

ये चारों आईपीएस अधिकारी भारतीय पुलिस सेवा के काबिल अफसरों में शामिल हैं। चारों के पास पुलिस के कामकाज का बेहतरीन अनुभव है। एम विष्ण वर्धन के पास तो PPMDS व PMMS जैसे प्रतिष्ठित पुलिस पदक भी हैं। ये चारों आईपीएस अधिकारी तीन राज्यों में सेवाएं दे रहे हैं।

मीडिया से बातचीत में आईपीएस एम दीपिका बताती हैं कि उन्होंने आईपीएस विक्रांत पाटिल से लव मैरिज की थी। मूलरूप से कर्नाटक के रहने वाले विक्रांत पाटिल को तमिलनाडु कैडर अलॉट हुआ था, मगर शादी के बाद वे भी पत्नी एम दीपिका के कैडर आंध्र प्रदेश में चले आए।

वन इंडिया हिंदी से बातचीत में आईपीएस एम दीपिका बताती हैं कि दोनों भाई बहन ने राजस्थान के झुंझुनूं जिले के पिलानी कस्बे में स्थित बिट्स से इंजीनियरिंग की थी। सबूत आधारित पुलिसिंग में भरोसा रखने वालीं एम दीपिका को आंध्रप्रदेश के कुरनूल में पहली महिला एएसपी के रूप में तैनात होने का भी गर्व प्राप्त हो चुका है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *