महिला सब इंस्पेक्टर बनी मानवता की मिसाल, लावारिश लाश को एक किलोमीटर तक कांधे पर ढोया

Desk: आंध्रप्रदेश के कासिबुग्गा पुलिस स्टेशन में तैनात सब इंस्पेक्टर सिरिशा ने जो कर दिखाया है, वो मानवता की एक मिसाल है. आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले की इस महिला सब-इंस्पेक्टर के बारे में जानकर ना सिर्फ आप तारीफ करेंगे, बल्कि आपका मन उनके प्रति श्रद्धा से भर जायेगा. इस महिला सब-इंस्पेक्टर का नाम कोट्टूरू सिरिशा है जिन्होंने समाज के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया है.

महिला सब इंस्पेक्टर एक लावारिस लाश को अपने कंधे पर उठाकर एक किलोमीटर दूर तक लेकर गयीं. उनके इस कार्य की चारों और प्रशंशा की जा रही है. वाक्या आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले की है. यहां खेत में एक भिखारी की लावारिश लाश मिली. जिसने बीमारी के कारण दम तोड़ दिया था. खेत में पड़ी भिखारी की लाश के अंतिम संस्कार के लिए जब कोई सामने नहीं आया तो कासीबुग्गा पुलिस थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर सिरिशा ने मौके पर पहुंच कर स्थानीय लोगों से आग्रह किया कि वो मृतक के शव को श्मशान पहुंचाने में मदद करें. लेकिन भिखारी की लाश को कोई हाथ लगाने को तैयार नहीं था.

सिरिशा ने खुद आगे बढ़कर भिखारी के अंतिम संस्कार का फैसला किया. उन्होंने एक मजदूर की मदद से भिखारी के शव को दो किलोमीटर तक कंधे पर उठाकर शमशान तक लायी. भिखारी की मृत्यु बीमारी की वजह से हो गयी थी. इस दौरान लोग उनकी वीडियो बनाते रहे और यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

कोट्टूरू सिरिशा 2017 बैच की सब इंस्पेक्टर हैं. वीडियो वायरल होने के बाद लोग सिरिशा के हौसले को सलाम कर रहे हैं. सोशल मीडिया यूजर्स एक सुर में लोग कह रहे हैं कि इस महिला पुलिस अधिकारी ने अपने कर्तव्य के प्रति जो जुनून दिखाया है वह यकीनन काबिल ए तारीफ है. एक यूजर ने लिखा ‘वीर नारी शक्ति को सैल्युट’.

महिला इंस्पेक्टर ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि वो सिर्फ अपनी ड्‌यूटी निभा रही थीं. उन्होंने पुलिस की नौकरी लोगों की सेवा के लिए ज्वाइन की है. जिस व्यक्ति का निधन हुआ, वह काफी कमजोर दिख रहा था, उसे सम्मान का अधिकार था, इसलिए मैंने उसके शव को कांधा दिया और उसका अंतिम संस्कार करवाया.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *