बिहार चुनाव पर डिप्टी CM मोदी की दो टूक-न जदयू अकेले सरकार बना सकता है, न भाजपा

[ad_1]

PATNA : उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि आज कोई भी एक दल अपने बलबूते पर चुनाव जीतकर सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है। न भाजपा न ही जदयू। उन्होंने कहा कि 2015 के विधानसभा चुनाव में भाजपा अलग चुनाव लड़कर देख चुकी है, जबकि 2014 में नीतीश कुमार के नेतृत्व में जदयू लोकसभा का अलग चुनाव लड़कर देख चुका है। उन्होंने कहा कि बिहार में गठबंधन मजबूरी नहीं है बल्कि जरूरत है। यहां अकेले कोई भी दल सरकार नहीं बना सकता। मोदी ने कहा कि भाजपा को अपनी ताकत के बारे में कोई गलतफहमी नहीं है। हम मजबूत हैं और हमारा संगठन भी है, लेकिन मिलजुलकर चुनाव लड़ेंगे तभी सफलता मिलेगी। इसे लेकर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व में भी कहीं कोई भ्रम नहीं है। उन्होंने दावा भी किया कि एनडीए की ताकत विरोधियों पर भारी पड़ेगी और बिहार में एनडीए की ही सरकार बनेगी।

मोदी ने लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान और जदयू के बीच बढ़ती तल्खी शीघ्र समाप्त होने का दावा किया। उन्होंने चिराग की नाराजगी को क्षणिक बताया और कहा किया है कि यह कोई गम्भीर झगड़ा नहीं है। जल्द ही सबकुछ सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि तीनों दलों के बीच बेहतर तालमेल है, कोई विवाद नहीं। हम मिलकर ही चुनाव लड़ेंगे।
पटना| बिहार महागठबंधन में इस बार के विधानसभा चुनाव में कितने दल होंगे, यह अभी तय होने की प्रक्रिया में है। महागठबंधन के मुख्य दोनों दल राजद और कांग्रेस के नेताओं की अन्य सहयोगी दलों से वार्ता चल रही है। इस बार के चुनाव में राजद और कांग्रेस साथ खड़े हैं। राजद व कांग्रेस मिलकर 195 सीटों पर लड़ेगी और बाकी सहयोगी दलों को 48 सीटें देने की रणनीति पर काम चल रहा है।

राजद के एक और विधायक वीरेंद्र कुमार जदयू में आ गए। अबतक जदयू में राजद के 7 विधायक, 5 विधान पार्षद आए। 7 विधायक हैं-प्रेमा चौधरी, महेश्वर यादव, अशोक कुमार, चंद्रिका राय, फराज फातमी, जयवर्द्धन यादव, वीरेंद्र कुमार। पार्षद हैं- दिलीप राय, राधाचरण सेठ, संजय प्रसाद, कमरे आलम, रणविजय सिंह।

[ad_2]

Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *