टाटा ने अंबानी से छह माह में ही छीन लिया सबसे बड़े कारोबारी घराने का रुतबा, मुकेश अंबानी को झटका

पिछले साल जुलाई में टाटा समूह को पछाड़ देश का सबसे बड़ा कारोबारी घराना बना रिलायंस समूह छह महीने भी शीर्ष पर नहीं रह सका। मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाला समूह बाजार मूल्य के मामले में अब तीसरे स्थान पर है। दूसरी ओर, फ्लैगशिप कंपनी टीसीएस के प्रदर्शन के बदौलत टाटा समूह एक बार फिर सबसे बड़ा कारोबारी घराना बन गया है। वहीं, वित्तीय शेयरों में आई तेजी के चलते एचडीएफसी देश का दूसरा सबसे बड़ा समूह बन गया है।

हालांकि, रिलायंस अब भी देश की सबसे बड़ी कंपनी बनी हुई है। जुलाई 2020 में टाटा ग्रुप की 17 सूचीबद्ध कंपनियों का कुल मार्केट कैप 11.32 लाख करोड़ था, जबकि रिलायंस का मार्केट कैप 13 लाख करोड़ के ऊपर पहुंच गया था। सितंबर तक रिलायंस के शेयर के भाव बढ़ते रहे और 16 सितंबर को रिलायंस का मार्केट कैप 16 लाख करोड़ के रिकॉर्ड स्तर को पार कर गया। लेकिन, इसके बाद इसके शेयर गिरने लगे और अब उसका मार्केट कैप 12.22 लाख करोड़ रह गया है। टीसीएस की अगुवाई में टाटा ग्रुप की कंपनियों टाटा मोटर्स और टाटा स्टील में आई तेजी के चलते समूह का कुल मार्केट कैप 16.69 लाख करोड़ रु. के पार पहुंच गया, जो रिलायंस समूह से करीब 36% ज्यादा है।।

अंबानी का रिलायंस समूह मार्केट कैप के हिसाब से तीसरे स्थान पर लुढ़का
{एक के बाद एक नए निवेश से रिलायंस के शेयर वास्तविक वैल्यूएशन से महंगे हो गए थे। वहीं, टाटा की तीन बड़ी कंपनियों टीसीएस, टाटा मोटर्स और टाटा स्टील में एक साथ शुरू हुई बढ़त से समूह तेजी से आगे बढ़ा है।

रिलायंस ग्रुप 12.22 लाख करोड़ रु., एचडीएफसी ग्रुप, 14.98 लाख करोड़ रु., टाटा ग्रुप 16.69 लाख करोड़ रु.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *