लॉकडाउन के बीच वापस पटना लौटे तेजस्वी, भाजपा ने दी क्वारंटाइन सेंटर में जाने की सलाह

बिहार में कोरोना के बढते ग्राफ के बीच नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव लॉकडाउन के बीच बिहार वापस लौट आए हैं. तेजस्वी यादव आज अहले सुबह पटना पहुंचे. सरकार ने उन्हें लॉकडाउन के बीच वापस आने के लिए विशेष अनुमति दी थी. वहीं, तेजस्वी यादव के पटना आने के बाद सियासत शुरू हो गई है. उनके पटना वापसी के बाद एक बार फिर से भाजपा-जदयू ने हमला तेज कर दिए हैं. विपक्ष ने तेजस्वी यादव को खुद किसी क्वारंटाइन सेंटर में जाने की सलाह दी है.

तेजस्वी के अचानक पटना लौटने पर राज्य के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने कहा- “भ्रष्टचार के राजकुमार 50 दिन से ज्यादा गुजर जाने के बाद बगैर किसी को जानकारी दिए अचानक अवतरित हो गए। जब लौट कर आ रहे थे तब ट्वीट करके या फेसबुक लाइव के माध्यम से किसी को यह जानकारी क्यों नहीं दी कि हम पटना आ रहे हैं। तेजस्वी बताएं कि वे इतने दिनों तक कहां थे और किस जोन में थे। कोरोना एक वायरस है और यह तेजस्वी यादव के लिए भी महत्वपूर्ण है कि वे इसकी जानकारी दें। ये जानना बिहार की जनता के लिए आवश्यक है।”

दिल्ली में रहने के चलते सत्ता पक्ष लगातार तेजस्वी पर हमले कर रहा था। जदयू और भाजपा नेताओं का कहना है कि जब-जब राज्य पर आपदा आती है तेजस्वी गायब हो जाते हैं। बाढ़ के वक्त भी तेजस्वी कहीं छिप गए थे। पिछले साल चमकी बुखार में भी तेजस्वी ने मुजफ्फरपुर जाकर गरीबों का हाल नहीं जाना। इस बार भी कोरोना का संकट आया तो तेजस्वी दिल्ली में जाकर बैठ गए और वहीं से ट्विटर गेम खेल रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *