बिहार में दोगुनी होगी लॉन्ग रूट पर चलने वाली बसों की संख्या, दूर होंगी यात्रियों की परेशानी

Patna: बीएसआरटीसी लॉन्ग रूट में 70 नयी बसों का परिचालन करने जा रहा है, जिसमें 62 बसें पटना के बांकीपुर डिपो से अलग अलग जिलों में जायेंगी और वहां से आयेंगी. इससे इस माह के अंत तक लॉन्ग रूट में चलने वाली बीएसआरटीसी की बसों की संख्या लगभग दोगुनी हो जायेगी.

वर्तमान में बांकीपुर डिपो से 70 बसें हर रोज पटना से अलग अलग जिलों के लिए निकल रही हैं, जो बढ़ कर 132 हो जायेंगी. साथ ही पूरे प्रदेश में चलने वाली लॉन्ग रूट की बसों की संख्या 300 हो जायेगी. पीपीपी मोड वाली 200 बसों को मिला देने पर यह संख्या 500 हो जायेगी.

बीएसआरटीसी की बसों की संख्या

बांकीपुर डिपो

लॉन्ग रूट 70

नगर सेवा 120

पूरा बिहार

लॉन्ग रूट 230

नगर सेवा 124

पीपीपी मोड 200

अगले सप्ताह डीलर प्वाइंट तक आ जायेंगी बसें

निगम द्वारा खरीदी जा रहीं 70 बसें अगले सप्ताह डीलर प्वाइंट तक आ जायेंगी. इनमें 15 लग्जरी बसें, 30 सेमी डीलक्स बसें और 25 डीलक्स बसें शामिल हैं, जिनके लिए कई महीने पहले जेम पोर्टल पर सरकार ने टेंडर जारी किया था. बीएसआरटीसी ने सिटी बस सेवा को पिछले तीन चार वर्षों में अच्छा रूप दिया है. इसके बेड़े में वर्तमान में 120 बसें शामिल हैं और 13 रूटों पर यह हर दिन सैंकड़ों फेरे लगाती हैं.

इनमें शहर की नौ रूटों के साथ-साथ बिहटा, मनेर जैसे शहर से बाहर स्थित स्थल और हाजीपुर और बिहारशरीफ जैसे जिले से बाहर स्थित स्थल भी शामिल हैं. इतने विस्तार का परिणाम है कि इससे हर दिन यात्रा करने वाले लोगों की संख्या बढ़ कर 50 हजार के आसपास पहुंच गयी है. लॉन्ग रूट में इन दिनों बीएसआरटीसी की बसें औरंगाबाद, सीतामढ़ी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, माेतिहारी, छपरा, सीवान और नवादा आती-जाती हैं और हर दिन 18-20 हजार लोग इसकी बसों से यात्रा करते हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.