रोड पर थूक फेंकने वालों को किया जायेगा गिरफ्फतार, बिहार सरकार का आदेश- 6 महिने का होगा जेल

बिहार के 6 जिलों में थूकने पर स/जा…3 राज्यों में भी…हमारे शहर में इसकी पहल क्यों नहीं, बेगूसराय व जहानाबाद के बाद मुजफ्फरपुर, मुंगेर, पूर्णिया और खगड़िया जिला प्रशासन ने भी उठाया कदम, पटना में थूकने वालों को दं/डित करने पर हो रहा है विचार PHOTO : DEMO

देश के 8 राज्याें के साथ ही अपने राज्य बिहार के भागलपुर में भी मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है, लेकिन राजधानी पटना में प्रशासन की अाेर से अबतक इसकी पहल नहीं की गई है। साथ ही बिहार के 6 जिलाें अाैर तीन राज्याें में थूकने पर सजा का प्रावधान है, लेकिन पटना में नहीं। जबकि, काेराेना संक्रमण से बचने के लिए ये दाेनाें अनिवार्य हैं।

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर राज्य के छह जिलों मुजफ्फरपुर, मुंगेर, खगड़िया, पूर्णिया, बेगूसराय और जहानाबाद में सिगरेट, खैनी और अन्य तंबाकू उत्पादों के उपयोग पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है। उन जिलों के डीएम ने जारी आदेश में कहा है कि अब तंबाकू उत्पाद खाकर जहां-तहां थूकने पर 200 से लेकर 2000 रुपए तक जुर्माना या छह माह के लिए जेल भेज दिया जाएगा।

तीन राज्याें गुजरात, महाराष्ट्र अाैर राजस्थान में थूकने पर सजा का प्रावधान है। जहानाबाद के डीएम ने तंबाकू अथवा कोई अन्य पदार्थ खाकर यत्र-तत्र थूकने पर छह माह की कैद अथवा दो सौ रुपए जुर्माने का निर्देश दिया है, वहीं खगड़िया के डीएम ने जुर्माना की राशि 2000 रुपए वसूलने का आदेश दिया है।

पूर्णिया के डीएम ने 200 रुपए जुर्माना, छह माह की जेल या दोनों से दंडित करने का आदेश दिया है। लेकिन पटना जिले में इस मामले पर विचार किया जा रहा है। खैनी-गुटखा खाकर थूकने से भी कोरोना वायरस फैलने का खतरा ज्यादा है। पटना के डीएम कुमार रवि ने कहा कि थूकने के मामले में दोषियों को कार्रवाई के दायरे में लाने की योजना पर विचार किया जा रहा है। इस संबंध में सभी संबंधित इकाइयों से बातचीत चल रही है। नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा कि इस संबंध में अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है। प्रशासन के स्तर पर आदेश जारी हुआ तो उसे लागू कराया जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *