ट्विटर ने डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट हमेशा-हमेशा के लिए किया बंद

यूएस कैपिटल में हुई भीषण हिंसा के बाद से ही ट्विटर, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया दिग्गजों ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को आड़े हाथों लेते हुए उनके अकाउंट कुछ घंटों के लिए बंद करने की घोषणा की थी। हालांकि, शुक्रवार को फेसबुक ने ट्रंप के अकाउंट को अनिश्चितकाल तक बंद करने का ऐलान किया और अब आज शनिवार को माइक्रोब्लॉगिक साइट ट्विटर ने ट्रंप के अकाउंट को हमेशा के लिए ही बंद कर दिया है।

ट्विटर सेफ्टी ने इस संबंध में एक ब्लॉग ट्वीट किया है, जिसके मुताबिक भविष्य में किसी भी तरह की हिंसा भड़कने के जोखिम की वजह से डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर अकाउंट ‘@realDonaldTrump’ को हमेशा के लिए बंद किया जा रहा है। ट्विटर ने यूएस कैपिटल हिंसा के दिन ही ट्रंप के अकाउंट को 12 घंटे के लिए बंद कर दिया था और साथ ही यह भी कहा था कि अगर ट्रंप उकसाने वाले ट्वीट करने बंद नहीं करते तो उनका अकाउंट हमेशा के लिए बंद कर दिया जाएगा।

हालांकि, डोनाल्ड ट्रंप यहीं नहीं रुके। उन्होंने इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करना शुरू किया। ट्विटर ने कुछ ही मिनट में वो सारे ट्वीट भी डिलीट कर दिया। प्रेसिडेंट ट्रंप ने ट्विटर पर अभिव्यक्ति की आजादी के हनन और अपने विरोधियों के लिए पक्षपात करने के गंभीर आरोप लगाए।

बता दें कि ट्विटर के ही 300 से ज्यादा कर्मचारियों ने संस्थान के अंदर ही एक याचिका पर हस्ताक्षर किए थे, जिसमें ट्रंप को बैन करने की मांग की गई थी। कर्मचारियों का कहना था कि वे यूएस कैपिटल में हुई हिंसा से स्तब्ध हैं और भविष्य में किसी तरह के नुकसान से बचने के लिए गलतियों से सबक लेना चाहिए।

इससे पहले फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने भी गुरुवार को यह घोषणा की थी कि डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। जुकरबर्ग ने एक बयान में कहा, ‘अमेरिकी संसद भवन में अपने समर्थकों के काम की निंदा करने की बजाय अपने मंच का उपयोग करने के उनके फैसले ने अमेरिका और दुनिया भर में लोगों को परेशान किया है। हमने उनके बयानों को हटा दिया था क्योंकि हमें लगा कि यह हिंसा को और अधिक बढ़ावा देने वाला है।’

बता दें कि ट्रंप के समर्थकों ने सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण को विफल बनाने के मकसद से कैपिटल भवन (अमेरिकी संसद भवन) पर धावा बोल दिया और इस दौरान अभूतपूर्व हिंसा हुई और अफरातफरी मच गई था। इस हिंसा में कुल 5 लोग मारे गए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *