बिहार कांग्रेस में उथल-पुथल, दिल्ली बुलाए गए मदन मोहन झा ने, छठ के बाद जाएंगे

PATNA : कांग्रेस के बिहार चुनाव प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेज दिया है। बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बाद उठ रहे सवाल के बाद उन्होंने अपना इस्तीफा दिया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने भी इस्तीफे की पेशकश की है। कांग्रेस आलाकमान ने मदन मोहन झा को दिल्ली तलब किया है। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय सदाकत आश्रम में कार्यकर्ताओं ने टिकट बंटवारे में लेन-देन और अन्य गड़बड़ियों के आरोप भी लगाए थे। मदन मोहन झा ने मीडिया से कहा कि विधानसभा चुनाव में बेहतर परफॉर्मेंस नहीं होने पर उनकी गलती हो या नहीं हो, लेकिन वे प्रदेश में अध्यक्ष पद पर हैं तो उनकी सबसे अधिक जवाबदेही है। इस्तीफे के सवाल पर कहा कि हमने जवाबदेही तय करने के लिए आलाकमान को लिखा है। मीडिया में कुछ नहीं बता सकते।

बिहार के चुनाव में कांग्रेस ने अधिक सीटें लेने के चक्कर में इस बात का ख्याल नहीं किया कि वह मजबूत सीट पर ही चुनाव लड़े। नतीजा यह हुआ कि 70 सीटों पर चुनाव लड़ने के बाद भी कांग्रेस को 19 सीटें ही हासिल हुईं। इसका असर पूरे महागठबंधन पर पड़ा और महागठबंधन को हार का सामना करना पड़ा। जितनी सीटें कांग्रेस ने चुनाव लड़ने के लिए राजद से बहुत दबाव डाल कर लीं, उस हिसाब से परफॉरमेंस दिखाती तो महागठबंधन की सरकार तय थी। राजद नेता शिवानंद तिवारी ने भी कांग्रेस पर तीखी टिप्पणी की थी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तारिक अनवर ने तो सवाल उठाया ही था। पिछले दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों से वन-टू-वन बात की थी और अपना फीडबैक आलाकमान को दिया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *