चाय बेचने वाला लड़का बना IAS अफसर, गरीबी में गुजरा है हिमांशु का बचपन, UPSC में मिला रैंक 139

चाय बेचने से IAS बनने तक… आपकी सोच बदल देगी ये कहानी : आईएएस हिमांशु गुप्ता, चाय बेचने वाले के बेटे हैं. उन्होंने 2019 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा पास की थी और 309वीं रैंक हासिल की थी. 2020 में उन्होंने आखिरी प्रयास में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा दी और 139वीं रैंक हासिल कर भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी बने. 2023 में उन्हें केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) का सचिव नियुक्त किया गया.

 ये कहानी है उत्तराखंड के जिला सितारगंज के रहने वाले आईएएस अधिकारी हिमांशु गुप्ता (IAS Officer Himanshu Gupta) की. हिमांशु गुप्ता आईएएस, सभी सिविल सेवा की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के लिए एक प्रेरणा का स्त्रोत हैं क्योंकि गरीबी और कई कठिनाइयों के होने के बावजूद इन्होने कभी हार नहीं मानी, सबका डट का सामना किया और अंत में कड़ी मेहनत करके यूपीएससी में सफलता हासिल की. हिमांशु गुप्ता के सक्सेस की संघर्ष भरी स्टोरी नीचे पढ़ें. 

उत्तराखंड के सितारगंज जिले के रहने वाले हिमांशु गुप्ता बचपन से ही होशियार और पढाई- लिखाई में थे. आर्थिक स्थिति सही न होने के कारण उनका बचपन आम बच्चों से बिलकुल ही अलग था और उन्होंने अपना बचपन अत्यधिक गरीबी में बिताया.  

अपने परिवार की खराब स्थिति को देखने के बाद, हिमांशु के पिता ने एक चाय की दुकान शुरू करने का फैसला किया, हिमांशु अपने स्कूल के बाद चाय की दुकान पर अपने पिता की मदद करते थे.

आईएएस अधिकारी हिमांशु गुप्ता को सिर्फ बेसिक अंग्रेजी सिखने के लिए हर दिन 70 किलोमीटर का सफर करना पड़ता था. स्कूली पढाई पूरी करने के बाद, हिमांशु ने दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज में दाखिला लिया. फीस का भुगतान करने के लिए ट्यूशन पढ़ाया करते है और ब्लॉग भी लिखा करते थे.

हिमांशु गुप्ता ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को क्रैक करने के लिए तीन बार प्रयास किया. पहले प्रयास में, हिमांशु ने सिविल सेवा के लिए क्वालीफाई किया लेकिन केवल आईआरटीएस के लिए चयनित हो पाए. उन्होंने अपनी तैयारी जारी रखी और 2019 यूपीएससी परीक्षा में आईपीएस बन गए.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *