शिवांश ने 9 साल की उम्र में देखा IAS बनने का सपना, UPSC में मिला 63 रैंक, दिन में 10 घंटे करता था पढ़ाई

बहादुरगढ़ के खरहर गांव के रहने वाले शिवांश राठी ने यूपीएससी की परीक्षा में 63वीं रैंक हासिल की है और अब वह आईएएस बन गए हैं. शिवांश इससे पहले यूपीएससी की रिजर्व लिस्ट में जगह हासिल कर दिल्ली में एसडीएम के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे. शिवांश ने 9 साल की उम्र से ही आईएएस बनने का सपना देखना शुरू कर दिया था. वह हर दिन 10 घंटे तक पढ़ाई करते थे और पढ़ाई से थक जाने पर व्यायाम के साथ शिव तांडव स्त्रोतम का पाठ करते थे. शिवांश के घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ बहादुरगढ़ इंडस्ट्रीज़ के अध्यक्ष प्रवीण गर्ग और कोषाध्यक्ष अशोक कुमार मित्तल ने भी शिवांश को आईएएस बनने पर बधाई दी थी…

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2023) की परीक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है। आदित्य श्रीवास्तव ने इसमें पहली रैंक हासिल कर टॉप किया है। वहीं, अनिमेश प्रधान ने दूसरी रैंक और दोनुरु अनन्या रेड्डी ने तीसरी रैंक हासिल की है। वहीं, बहादुरगढ़ के खरहर गांव के शिवांश राठी ने 63वीं रैंक हासिल की है।

लिस्ट में टोटल 1016 कैंडिडेट्स के नाम हैं। इसमें जनरल कैटेगरी से 347, EWS से 115, OBC से 303, SC से 165 और ST कैटेगरी से 86 कैंडिडेट्स हैं।

खरहर गांव के शिवांश राठी ने किया नाम रोशन

खरहर गांव के बेटे शिवांश राठी ने यूपीएससी की परीक्षा में 63 वां रैंक हासिल किया है। शिवांश फिलहाल दिल्ली में एसडीएम के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। यूपीएससी की रिजर्व लिस्ट में स्थान हासिल कर एसडीएम बने थे। वो बहादुरगढ़ के सेक्टर 6 में परिवार के साथ रहते हैं। उनके यूपीएससी की परीक्षा में 63वां रैंक हासिल करने पर खुशी का माहौल है। उनके घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।

इसके साथ ही चंडीगढ़ में भाजपा नेता कृष्ण ढुल के बेटे का यूपीएससी में चयन हुआ है। 342 रैंक के साथ ही 23 वर्षीय एकांश ढुल का UPSC में चयन हुआ है। वहीं, बहादुरगढ़ के अभिलाष सुंदरम ने 421वी रैंक हासिल की। अभिलाष त्रिवेणी स्कूल के मालिक श्याम सुंदर के बेटे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *