अभी-अभी : उद्धव ठाकरे ने खाली किया मुख्यमंत्री आवास, महाराष्ट्र की पॉलिटिक्स में भूकम्प

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने आधिकारिक निवास खाली कर दिया है। मतलब आप अपने हिसाब से समझ लीजिए।वे अपने घर मातोश्री पहुंच गए हैं।उद्धव से गलती हुई है और सरकारी मकान छोड़कर उन्होंने खुद को शिव सैनिकों से बेहतर जोड़ा है।उद्धव को जानने वाले कहते हैं कि उन्होंने एकनाथ शिंदे को इशारा किया है कि रास्ता साफ़ है। मुम्बई तो आओ।

ये फ़ैसले की घड़ी है। उद्धव को मालूम है कि हिंदुत्व का एजेंडा शिवसेना के बजाय बीजेपी को फायदा पहुंचाता है।

60 और 70 के दशक में बाल ठाकरे ने स्थानीयता, वामपंथ विरोध और हिंदुत्व की विचारधारा पर राजनीति की। उद्धव उसे मराठा और स्थानीयता तक लेकर आये।

लेकिन हिंदुत्व को लेकर भ्रम अभी भी है। उद्धव को यह भ्रम दूर करना होगा।उनका कार्यकाल महाराष्ट्र को कोविड के दौर में भी सबसे बेहतर राज्यों में लेकर गया है।शिव सैनिक लंबे समय से सड़कों पर नहीं हैं। लेकिन अब उद्धव के पास एकमात्र रास्ता यही है- कि वे खुद को फ्लॉवर नहीं, फायर साबित करें। “सरकार” बन जाएं।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.