वाराणसी-पटना-कोलकाता के बीच चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस, बोर्ड ने भेजा रेलवे को प्रस्ताव

PATNA : पटना वासियों को बहुत जल्द एक खुशखबरी मिलने जा रही है। बताया जा रहा है की अगर सब कुछ ठीक रहा तो वारणसी से पटना होते हुए कोलकाता तक वंदे भारत एक्सप्रेस को चलाने की तैयारी की जा रही है। ताजा अपडेट के अनुसार दानापुर रेल मंडल ने इस बाबत तैयारियां शुरू कर दी है। रेलवे को बोर्ड की ओर से एक प्रस्ताव भेजा गया है। जानकारों की माने तो अगर दानापुर रेल मंडल के इस प्रस्ताव को बोर्ड और रेल मंत्रालय मान लेती है तो पटना से वारणसी और पटना से कोलकाता आने जाने वाले यात्रियों को काफी कम समय में यात्रा पुरी हो जाएगी।

रेलवे बोर्ड ने अलग-अलग रेल मंडलों और जोन से इस ट्रेन के चलाने संबंधी प्रस्ताव मांगे थे। इस वित्तीय वर्ष 2019-20 के अंत तक वंदे भारत की और 10 रैक तैयार हो जाएंगी। आईसीएफ चेन्नई में इनका निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। दस रैक की उपलब्धता से पहले रेलवे बोर्ड नए वंदे भारत ट्रेन का रूट तय करने की योजना बना रहा है। पूर्व में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी पटना से कोलकाता के बीच वंदे भारत ट्रेन चलाने की घोषणा की थी। रैक मिलने के बाद शुरुआत में एक ही रैक से अप और डाउन में वाराणसी से कोलकाता के बीच गाड़ी चलेगी।

दीनदयाल उपाध्याय-पटना-झाझा से कोलकाता की रेललाइन भी सबसे मजबूत और मेंटेन रेललाइनों में से एक है। इस रूट पर 160 से 180 किलोमीटर की स्पीड तक ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। इस ट्रेन से वाराणसी से कोलकाता के बीच की दूरी कम समय में तय होगी। लगभग 130 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से यह ट्रेन चलेगी। साढ़े सात घंटे में यह कोलकाता पहुंच जाएगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *