इसबार डोली पर आएंगी और हाथी पर विदा हाेंगी मां दुर्गा, 7 अक्टूबर को कलश स्थापन, 15 को विजयादशमी

PATNA : अश्विन शुक्ल प्रतिपदा 7 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र की शुरुआत होगी। 15 अक्टूबर को विजयादशमी मनाई जाएगी। इसबार के नवरात्र में षष्ठी तिथि का क्षय है। यानी माता की आराधना करने वाले भक्त आठ दिन ही पूजा कर सकेंगे। उदयकालीन षष्ठी तिथि का क्षय होने के कारण 11 अक्टूबर को ही पंचमी व षष्ठी की पूजा की जाएगी। इसबार माता का आगमन डोली पर और विदाई हाथी पर होगी। नवरात्र की शुरुआत गुरुवार से हो रही है, इसलिए माता डोली पर सवार होकर आएंगी। ऐसी मान्यता है कि कलश स्थापना के दिन के अनुसार माता की सवारी बदल जाती है। इसीलिए हर साल माता का वाहन अलग-अलग होता है। इस बार माता का अागमन डोली पर हो रहा है, इसलिए इसका फलाफल अच्छा नहीं माना जा रहा है।

शारदीय नवरात्र की महत्वपूर्ण तिथियां
{7 अक्टूबर को कलश स्थापना और नवरात्र आरंभ {8 अक्टूबर को रेमंत पूजा {11 अक्टूबर को गज पूजा और बिल्वाभिमंत्रण {12 अक्टूबर को पत्रिका प्रवेश और पट खुलेगा {13 अक्टूबर को महाअष्टमी व्रत और रात्रि में महानिशा पूजा {14 अक्टूबर को महानवमी व्रत व त्रिशूलनी पूजा {15 अक्टूबर को विजयादशमी, जयंती धारण और देवी का विसर्जन

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP पर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.