अभी-अभी : बिहार के महान अर्थशाशास्त्री शैबाल गुप्ता को मरणोपरांत और अचार्य चंदनाजी को मिला पद्मश्री अवार्ड

अभी अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि बिहार के महान अर्थशास्त्री शैबाल गुप्ता को मरणोपरांत और अचार्य चंदनाजी को पद्मश्री पुरस्कार देने का ऐलान हुआ है। केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर मंगलवार को पद्म पुरस्कारों का ऐलान किया। विमान हादसे में शहीद हुए CDS जनरल बिपिन रावत और भाजपा के दिवंगत नेता कल्याण सिंह को मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया है। प्रभा अत्रे को कला, राधेश्याम खेमका को साहित्य और शिक्षा, जनरल बिपिन रावत को सिविल सर्विस और कल्याण सिंह को लोक कल्याण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए सम्मानित करने की घोषणा की गई है। इसके अलावा कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किया जाएगा।

बिहार के नीति निर्माण में भी शैबाल गुप्ता की रही बड़ी भूमिका, 1991 में की थी ADRI की स्थापना

बिहार के नीति-निर्माण में आद्री के संस्थापक शैबाल गुप्ता की बड़ी भूमिका रही है। बिहार का आर्थिक विकास हो या सामाजिक अथवा आधारभूत संरचना का निर्माण, हर क्षेत्र में उनके योगदान को बिहार भूलेगा नहीं। बिहार के लिए वे हमेशा लड़ते रहे। बिहार की स्थिति, विकास और आगे की रणनीति को लेकर आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट उन्हीं के नेतृत्व में तैयार की जाती रही है। कई वर्षों से विधानमंडल के बजट सत्र के दौरान आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट सदन में पेश किया जाता था। बिहार के विकास की रणनीति बनाने में यह रिपोर्ट काफी सहायक होती थी।

बिहार की हक की बात मजबूती से रखते थे
शैबाल गुप्ता बिहार की हक की बात हर फोरम पर प्रमुखता से रखते थे। अर्थाशास्त्री और समाज विज्ञानी होने के नाते वह हर पहलू पर अपनी बात रखते थे। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले, इसके लिए हर मंच पर उन्होंने पुरजोर वकालत की। पूरी दृढ़ता से बिहार हित की बात रखी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपने शोक संदेश में कहा है कि शैबाल गुप्ता का महत्वपूर्ण योगदान बिहार के कई आर्थिक सुधारों में रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी कहा है कि वे जब मुख्यमंत्री थे तो हर वित्तीय फैसले में शैबाल गुप्ता का सहयोग मिलता था।

आद्री की स्थापना 1991 में की थी
आद्री की स्थापना शैबाला गुप्त ने वर्ष 1991 में की थी। उन्होंने आद्री के तत्वावधान में पटना में कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय समिनार का आयोजन किया था। इनके द्वारा आयोजित सभी कार्यक्रमों-सेमिनारों के विषय में बिहार का विकास केंद्र में रहता था। इनके द्वारा आयोजित परिचर्चा में प्रमुख अर्थशास्त्री लॉर्ड मेघनाद देसाई भी शामिल हुए थे।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और Whattsup, YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.